Top
undefined

कोरोना का खौफ : नोट छूने से कतरा रहे लोग, पेटीएम से भुगतान में आई उछाल

कोरोना संक्रमण के डर की वजह से लोग अब करेंसी नोट का कम इस्तेमाल कर रहे हैं और डिजिटल पेमेंट बढ़ रहा है. Paytm ने एक बयान में कहा कि डिजिटल भुगतान में बड़े पैमाने पर उछाल आया है, क्योंकि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए ज्यादातर लोग नकदी को छूने से बच रहे हैं.

कोरोना का खौफ : नोट छूने से कतरा रहे लोग, पेटीएम से भुगतान में आई उछाल
X

नई दिल्ली /कोरोना संक्रमण के भारत में भी मामले बढ़ते जा रहे हैं और इसकी वजह से लोगों में डर भी बढ़ रहा है. इसी डर की वजह से लोग अब करेंसी नोट का कम इस्तेमाल कर रहे हैं और डिजिटल पेमेंट बढ़ रहा है.

Paytm ने एक बयान में कहा कि डिजिटल भुगतान में बड़े पैमाने पर उछाल आया है, क्योंकि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए ज्यादातर लोग घर से काम कर रहे हैं और वह घर से बाहर निकलने और नकदी को छूने से बच रहे हैं.

जानें कितना बढ़ा डिजिटल भुगतान

पेटीएम के एक प्रवक्ता ने कहा, 'हम नियमित दिनों की तुलना में डिजिटल भुगतान में 20 फीसदी की वृद्धि देख रहे हैं. फरवरी से पेटीएम ऐप पर जाने वाले उपयोगकर्ताओं और प्रति उपयोगकर्ता के लिहाज से सेशन की संख्या में भी वृद्धि हुई है.'

क्या कहा पेटीएम ने

बयान में कहा गया है, 'पेट्रोल पंप और एक-दूसरों के बीच भुगतान जैसे दोहराए जाने वाले लेनदेन में भारी उछाल आया है. नकद के बजाय अधिक लोग पेटीएम को महत्व दे रहे हैं.'

गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को बैंकों से डिजिटल भुगतान के उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए कहा था.

जानकारों के अनुसार, कई डिजिटल भुगतान कंपनियों के लेन-देन में गिरावट देखी गई है, क्योंकि देश में पिछले एक महीने में पेटीएम ने अधिक लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया है.

डिजिटल भुगतान में आगे

न्यूज एजेंसी आईएएनएस अनुसार, पेटीएम 1.6 करोड़ मजबूत व्यापारी आधार (मर्चेट बेस) के साथ डिजिटल भुगतान के मामले में कहीं आगे है. वहीं, भारतपे और पाइन लैब्स जैसे सेवा प्रदाताओं ने दुकानों, मॉल, भोजनालयों के बंद रहने के कारण लेनदेन में मंदी दर्ज की है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए गाइडलाइन जारी की हैं। गाइडलाइन में कहा गया है कि सामान्य लोग पीड़ितों से दूर रहें और किसी भी ऐसी वस्तु को ना छुएं, जिससे कोराना वायरस या किसी अन्य प्रकार का वायरस फैलने की आशंका हो.डब्ल्यूएचओ ने कॉन्टैक्टलेस भुगतान की सलाह दी है.

Next Story
Share it
Top