Top
undefined
Breaking

शिशु को ठोस आहार देने की शुरुआत इन चीजों से करें

शिशु को ठोस आहार देने की शुरुआत इन चीजों से करें

शिशु को 6 महीने के होने के बाद ठोस आहार देना शुरू किया जाता है। बच्‍चे के लिए खाना एकदम नया होता है और उसके पेट को इसे पचाने में समय लग सकता है इसलिए आपको इस बात का बहुत ध्‍यान रखना पड़ेगा कि ठोस आहार शुरू करने पर बच्‍चे को सबसे पहले क्‍या खिलाना चाहिए।

यहां हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं जो शिशु को ठोस आहार शुरू करने पर जरूर देने चाहिए या इन्‍हीं से ठोस आहार की शुरुआत करनी चाहिए।

पहली बार बच्‍चे को कैसे खिलाएं ठोस आहार

आप ब्रेस्‍ट मिल्‍क और ठोस आहार को मिलाकर बच्‍चे को दे सकते हैं। इससे उसे एक दम से नया बदलाव नहीं लगेगा। पहले हमेशा थोड़ी मात्रा में ही खिलाना चाहिए। एक निवाले में एक छोटी चम्‍मच से ज्‍यादा न खिलाएं। जब शिशु को ठोस आहार खाने की आदत हो जाए तब आप उसे दही और सेब आदि मिलाकर खिला सकते हैं।

सेब

बच्‍चों को सेब का मीठा और खट्टा स्‍वाद पसंद आएगा। आप ठोस आहार की शुरुआत सेब से कर सकते हैं। वहीं, सेब में फाइबर अधिक और फैट की मात्रा कम होती है इसलिए यह फल शिशु के लिए बहुत लाभदायक होता है। आप सेब का छिलका उतारकर उसकी प्‍यूरी बनाकर बच्‍चे को दे सकती हैं।

चुकंदर

चुकंदर को उबालकर खिलाने से शिशु को अनेक पोषक तत्‍व मिल जाते हैं। चुकंदर में फोलिक एसिड होता है जो शिशु के मस्तिष्‍क के विकास में मदद करता है। कई बच्‍चे बड़े आराम से चुकंदर खा लेते हैं।

नाशपाती

नाशपाती से बच्‍चों का पाचन ठीक रहता है। नाशपाती में प्रचुर मात्रा में फास्‍फोरस और कैल्शियम होता है जाे शिशु की हड्डियों को मजबूत बनाने की प्रक्रिया को बढ़ावा देता है। नाशपाती का छिलका उतार कर, उसके बीज निकालने के बाद प्‍यूरी के रूप में शिशु को खिलाएं।

दही

7 से 8 महीने के बच्‍चे को दही खिला सकते हैं। दही बहुत नरम होती है इसलिए शुरुआती ठोस आहार के रूप में दही खिला सकते हैं। ये कैल्शियम का अच्‍छा स्रोत होता है और इससे शिशु का पाचन भी दुरुस्‍त रहता है।

केला और शकरकंद

बच्‍चों के लिए केला सुपरफूड का काम करता है। इसमें फोलेट की उच्‍च मात्रा होती है जो बच्‍चे के दिमाग को एक्टिव रखने में मदद करता है। इसके अलावा शिशु को ठोस आहार की शुरुआत शकरकंद से भी करवाई जा सकती है। इसमें बीटा-कैरोटीन होता है जो आंखों को तेज करता है और इम्‍युनिटी बढ़ाता है।

ठोस आहार देने में इन बातों का रखें ध्‍यान

बच्‍चे आसानी से खाना नहीं खाते हैं। आपको उन्‍हें खेल-खेल में खाना खिलाना पड़ता है।

ठोस आहार शुरू करने से पहले ब्रेस्‍ट मिल्‍क या फॉर्मूला मिल्‍क को चम्‍मच और कटोरी से पिलाना शुरू करें।

बच्‍चे के खाने में चीनी और नमक का इस्‍तेमाल न या कम करें।

खाना ज्‍यादा गर्म या ठंडा नहीं होना चाहिए। बच्‍चे को खिलाने से पहले खाने का तापमान चैक जरूर कर लें।

शिशु के बीमार या खराब मूड में होने पर ठोस आहार देने से बचें। इससे हो सकता है कि उनमें ठोस आहार के प्रति गलत धारण बन जाए।

Next Story
Share it
Top