Top
undefined

जापान के शासक नारुहितो ने नए साल की शुभकामनाओं में कहा- उम्मीद करते हैं प्राकृतिक आपदा न आएं

पिछले साल प्राकृतिक आपदा में 80 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और स्थानीय बुनियादी ढांचे को भारी नुकसान पहुंचा था।

जापान के शासक नारुहितो ने नए साल की शुभकामनाओं में कहा- उम्मीद करते हैं प्राकृतिक आपदा न आएं
X

टोक्यो। जापान के नए सम्राट नारुहितो ने देशवासियों को नए साल की पहली बधाई देने के साथ ही उम्मीद जताई कि इस साल देश में कोई प्राकृतिक हादसा नहीं हो। लाखों शुभचिंतकों को नए साल की बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि मैं आप के साथ नए साल का जश्न मना रहा हूं। कई जापानी नागरिक झंडे लहराते और "बंजई" (Banzai) चिल्ला रहे थे, जिसका अर्थ होता है "लंबा जीवन"। महारानी मसाको के साथ 59 वर्षीय सम्राट ने कहा कि मैं कई लोगों के बारे में चिंतित हूं जो पिछले साल आई भयानक आंधी और भारी बारिश के कारण अभी भी कठिन जीवन जी रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि यह साल बिना किसी प्राकृतिक आपदा के अच्छा और शांतिपूर्ण बीतेगा। पिछले महीने शाही दंपति ने अक्टूबर में जापान के पूर्वोत्तर क्षेत्र में शक्तिशाली टाइफून हागिबिस से प्रभावित लोगों का दौरा किया था। इस प्राकृतिक आपदा में 80 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और स्थानीय बुनियादी ढांचे को भारी नुकसान पहुंचा था। पारंपरिक नए साल के उत्सव में भाग लेने वाले नारुहितो के पिता अकिहितो ने भी लोगों को शुभकामनाएं दी। लगभग दो शताब्दियों में वह पहली बार जापानी सम्राट बने थे और उन्होंने अपने तीन दशकों के शासनकाल को खत्म कर 30 अप्रैल को नारुहितो सिंहासन सौंप दिया था। नारुहितों ने औपचारिक रूप से अक्टूबर में सिंहासन पर बैठने की घोषणा दुनिया भर के शाही परिवारों और नेताओं के सामने की थी। केंद्रीय टोक्यो महल साल में दो बार जनता के लिए खोला जाता है। एक बार सम्राट के जन्मदिन पर और नए साल के दूसरे दिन। इन दोनों दिनों में शाही परिवार के शुभचिंतक उन्हें बधाई देने आते हैं। बताते चलें कि पैसेफिक रिंग ऑफ फायर में स्थित होने के कारण जापान में हर साल कई तरह की प्राकृतिक आपदाएं आती रहती हैं। इनमें भूंकप, तूफान, भारी बारिश से लेकर सुनामी तक शामिल हैं। हालांकि, यह जापानी लोगों की जिजीविषा ही है कि वे हर आपदा के बाद फिर से उठ खड़े होते हैं।

Next Story
Share it