Top
undefined

युवाओं में ई-सिगरेट की बढ़ती लत से अमेरिका परेशान, कई फ्लेवरों पर लगाया बैन

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के वादे के मुताबिक ई-सिगरेट पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा नहीं की गई है।

युवाओं में ई-सिगरेट की बढ़ती लत से अमेरिका परेशान, कई फ्लेवरों पर लगाया बैन
X

वाशिंगटन, अमेरिका ने युवाओं में ई-सिगरेट के लत की बढ़ती समस्या से निपटने के लिए इसके अधिकांश फ्लेवरों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के वादे के मुताबिक ई-सिगरेट पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की घोषणा नहीं की गई है। डोनाल्‍ड ट्रंप ने सितंबर में ई-सिगरेट पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का वादा किया था। यानी इसे आंश‍िक प्रतिबंध कहा जा सकता है। समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, अमेरिका के खाद्य एवं मादक पदार्थ प्रशासन ने बृहस्पतिवार को कहा कि तंबाकू या पुदीने के अलावा अन्य फ्लेवरों वाली ई-सिगरेट पर तब तक प्रतिबंध लगा रहेगा जब तक उन्हें सरकार से विशेष इजाजत नहीं मिल जाती। एफडीए FDA की ओर से जारी दिशा निर्देशों में कहा गया है कि जो कंपनियां 30 दिन में इस प्रकार की ई-सिगरेट बनाने और बेचने पर प्रतिबंध नहीं लगाएंगी उन्हें दंडित किया जाएगा। अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार Health Secretary Alex Azar ने अपने बयान में कहा कि अमेरिकी युवाओं में तेजी से ई-सिगरेट की लत बढ़ी है। इससे पहले ऐसा कभी नहीं देखा गया है। उन्होंने इसकी तुलना महामारी से की। अमेरिका की ओर से ये प्रतिबंध फरवरी की शुरुआत से प्रभावी हो जाएंगे। एफडीए के इन आदेशों के तहत फलों और कैंडी के फ्लेवरों की ई-सिगरेट बाजार से बाहर हो जाएंगी। इन फ्लेवरों की सिगरेट युवाओं में खासा लोक‍प्रिय हैं।

Next Story
Share it