Top
undefined

कोरोना : जगी उम्मीद की किरण, ऐंटी-पैरासाइट दवा ने लैब में वायरस को 48 घंटे में खत्म किया

कोरोना वायरस का इलाज ढूंढने की दिशा में ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों को मिली बड़ी कामयाबी, वैज्ञानिकों ने एक ऐंटी-पैरासाइट दवा के सिर्फ एक डोज से कोरोना वायरस को 48 घंटे में खत्म किया, ऐंटी-पैरासाइट ड्रग इवरमेक्टिन का पहले से ही जीका, डेंगू जैसे वायरसों के इलाज में होता है इस्तेमाल

कोरोना : जगी उम्मीद की किरण, ऐंटी-पैरासाइट दवा ने लैब में वायरस को 48 घंटे में खत्म किया
X

मेलबर्न . आज तकरीबन पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी का कहर झेल रही है। अब तक 11 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 61 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है वायरस नया है, लिहाजा अभी इसका कोई टीका है और न कोई एक खास इलाज। दुनियाभर में इसके इलाज और वैक्सीन के लिए वैज्ञानिक रिसर्च में लगे हुए हैं। अब उम्मीद की एक किरण चमकती नजर आ रही है। दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक इसकी काट ढूंढने के बहुत करीब पहुंच चुके हैं।

ऑस्ट्रेलिया में वैज्ञानिकों ने लैब में कोरोना वायरस से संक्रमित कोशिका से इस घातक वायरस को महज 48 घंटे में ही खत्म किया है और वह भी एक ऐसी दवा से जो पहले से ही मौजूद है। रिसर्चरों ने पाया कि दुनिया में पहले से ही मौजूद एक ऐंटी-पैरासाइट ड्रग यानी परजीवियों को मारने वाली दवा ने कोरोना वायरस को खत्म कर दिया। यह कोरोना वायरस के इलाज की दिशा में बड़ी कामयाबी है और इससे अब क्लिनिकल ट्रायल का रास्ता साफ हो सकता है।

Next Story
Share it