Top
undefined

दुबई राजकुमारी लतीफा को भारत ने बचाया नहीं, पकड़ा था: ब्रिटिश जज

दुबई की 'राजकुमारी' लतीफा अपने पिता यानी यूएई के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के साथ नहीं रहना चाहती थीं। इसलिए घर से भागीं। लेकिन बाद में उन्हें भारत के पास पकड़ लिया गया और पिता के हवाले कर दिया गया।

दुबई राजकुमारी लतीफा को भारत ने बचाया नहीं, पकड़ा था: ब्रिटिश जज
X

लंदन, दुबई की 'राजकुमारी' लतीफा के भागने का मामला एकबार फिर चर्चा में है। अब ब्रिटेन की एक कोर्ट में भारत पर आरोप लगे हैं कि इंटरनैशनल नियमों को तोड़कर लतीफा को कैद किया गया और फिर उनके पिता यानी यूएई के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम को सौंप दिया गया। बता दें कि साल 2018 में यह मामला सामने आया था। लतीफा दुबई की राजकुमारी हैं। उन्होंने 7 सालों तक भागने की तैयारी की थी, लेकिन अंत में पकड़ीं गई थीं। कोर्ट की यह सुनवाई जज एंड्रयू मैकफर्लेन ने की। लंदन हाई कोर्ट में जज ने सुनवाई के दौरान कहा कि लतीफा 25 फरवरी 2018 को दुबई से ओमान के रास्ते निकली थीं। फिर भारतीय तट से कुछ दूरी पर ही उन्हें पकड़ लिया गया था। जज ने इन बातों दरअसल, जज ने एक विडियो देखा था। करीब एक घंटे का वह विडियो लतीफा ने ही रेकॉर्ड किया था। विडियो में लतीफा की दोस्त और मार्शल आर्ट ट्रेनर टीना भी थीं। उन्होंने ही भागने में लतीफा की मदद की थी। जज ने इस विडियो को सही माना। विडियो देखकर जज ने कहा, 'टीना ने बताया कि वह पूरी तरह डरी हुई थी और उसे लग रहा था कि उसे मार दिया जाएगा। टीना ने लतीफा को जमीन पर पड़े देखा, जिसके हाथ बंधे थे। टीना के मुताबिक, भारतीय सेना के लोग चिल्लाकर पूछा रहे थे तुम में से लतीफा कौन है, बताओ?' विडियो में टीना का भी बयान है। वह बताती हैं कि भारतीय फोर्स कुछ देर बाद जहाज पर एक अरब के शख्स को लेकर आई थी, उससे लतीफा को पहचानने के लिए कहा गया। टीना के मुताबिक, वह लगातार चिल्ला रही थीं कि भारतीय फोर्स इंटरनैशनल नियमों को तोड़ रही है, लेकिन उनकी नहीं सुनी गई। जज ने कहा, 'यह बयान बताता है कि लतीफा को बचाया नहीं पकड़ा किया गया था।'

Next Story
Share it