Top
undefined

कोरोना को लेकर कुछ लोगों की मानसिकता खतरनाक, जहां नियमों का पालन नहीं होगा वहां सख्त कार्रवाई होगी

इमरान खान के मुताबिक- पाकिस्तान में कई लोग कह रहे हैं कि कोरोना जैसी कोई चीज नहीं है खान ने कहा- मॉल हों या ट्रांसपोर्ट सिस्टम, जहां नियमों की अनदेखी होगी, वहां इन्हें बंद किया जाएगा

कोरोना को लेकर कुछ लोगों की मानसिकता खतरनाक, जहां नियमों का पालन नहीं होगा वहां सख्त कार्रवाई होगी
X

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार रात राष्ट्र को संबोधित किया। कहा- देश में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। लेकिन, कुछ लोग कह रहे हैं कि कि कोरोनावायरस उन्होंने नहीं देखा और ऐसी कोई चीज है भी नहीं। इमरान ने कहा कि यह मानसिकता बेहद खतरनाक है। खान ने कहा कि वो खुद महामारी पर नजर रख रहे हैं। सरकार ने कुछ नियम बनाए हैं। अगर मॉल्स या दूसरी जगहों पर इनका पालन नहीं हुआ तो इन्हें फौरन बंद कर दिया जाएगा। शुक्रवार सुबह तक पाकिस्तान में संक्रमण के 1 लाख 25 हजार 933 मामलों की पुष्टि हो चुकी थी। अब तक 2463 लोगों की मौत हो चुकी है।

प्रधानमंत्री खुद रख रहे हैं हालात पर नजर

देश के लोगों के नाम संदेश में इमरान ने कहा, "कोरोना को लेकर मैं खुद देश के हालात पर नजर रख रहा हूं। यह भी देख रहा हूं कि नियमों का पालन हो रहा है या नहीं। मुझे मालूम है कि मस्जिद, अदालत, ऑफिस, पार्क, इंडस्ट्रीज, शॉपिंग मॉल्स और ट्रांसपोर्ट में क्या चल रहा है। मैं हर रोज इनकी रिपोर्ट मंगा रहा हूं। जहां सरकारी नियमों का पालन नहीं होगा, वहां एक्शन लिया जाएगा। जरूरत हुई तो इन जगहों को फौरन बंद किया जाएगा।"

पहले सख्ती नहीं की

खान ने आगे कहा, "पहले हमने सख्ती नहीं की। क्योंकि, हम डाटा कलेक्शन कर रहे थे। लेकिन, अब मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि हम पूरी ताकत से संक्रमण को रोकेंगे। मेरी सरकार इस मामले में एजेंसियों की पूरी मदद करेगी।" इमरान ने इस बात पर दुख जताया कि कुछ लोग महामारी पर बेहद गैरजिम्मेदाराना रवैया अपना रहे हैं। उन्होंने कहा, "कुछ लोग कह रहे हैं कि हमने कोई कोरोना नहीं देखा। हमने कोरोना की वजह से किसी को मरते नहीं देखा। यह बहुत खतरनाक मानसिकता है।"

अगला महीना ज्यादा भारी

इमरान के मुताबिक, पाकिस्तान में जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि अगला महीना यानी जुलाई भारी पड़ सकता है। खान ने कहा- हमें आशंका है कि अगले महीने सबसे ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं यानी संक्रमण चरम पर होगा। लिहाजा, लोगों को उन नियमों का सख्ती से पालन करना चाहिए जो सरकार ने जारी किए हैं। यह उनका मुल्क के लिए फर्ज है।

Next Story
Share it