Top
undefined

यूएन की रिपोर्ट में पाकिस्तान बेनकाब, भारत में अलकायदा, आईएस जैसे कई आतंकी संगठनों की कमान पाकिस्तानी आतंकियों के हाथ में

यूएन की रिपोर्ट में पाकिस्तान बेनकाब, भारत में अलकायदा, आईएस जैसे कई आतंकी संगठनों की कमान पाकिस्तानी आतंकियों के हाथ में
X

यूनाइटेड नेशंस। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान में आतंकवादी और आतंकी समूह लगातार बढ़ रहे हैं। भारत में कई आतंकी संगठनों की कमान पाकिस्तानियों के हाथ में ही है। इनमें इस्लामिक स्टेट और अलकायदा जैसे आतंकी संगठन शामिल हैं। इनमें से कई आतंकी अभी भी यूएन से ब्लैकलिस्टेड नहीं हैं।

यूएन की एनॉलिटिकल सपोर्ट एंड सैंक्शंस मॉनिटरिंग टीम की रिपोर्ट में बताया गया कि अप्रैल और मई में अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने आईएसआईएल-के (इस्लामिक स्टेट इन इराक एंड लीवेंट- खुरासान) के सरगना असलम फारुखी को गिरफ्तार किया था। इसको अब्दुल्लाह ओरकजई के नाम से भी जाना जाता है।

काबुल के गुरुद्वारे में हुए हमले का मास्टरमाइंड ओरकजई ही था। इस हमले में 25 सिखों की मौत हुई थी। वह पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा का रहने वाला है। फारुखी के साथ आईएसआईएल-के का पूर्व सरगना जिलाउल-हक भी गिरफ्तार किया गया था। वह भी पाकिस्तानी नागरिक है। अब्दुल्ला ओरकजई और जियाउल-हक को यूएन सिक्युरिटी काउंसिल की सैंक्शन कमेटी की ओर से अभी तक ब्लैकलिस्ट नहीं किया गया है।

अलकायदा का सरगना भी पाकिस्तानी

भारतीय उपमहाद्वीप में आतंकी संगठन अलकायदा अफगानिस्तान के निम्रुज, हेलमंड और कांधार प्रांत से ऑपरेट होता है। अभी यह संगठन तालिबान के अंडर में काम करता है। इसका मौजूदा सरगना पाकिस्तानी ओसामा महमूद है। ग्लोबल टेररिस्ट की लिस्ट में उसका भी नाम नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक इस ग्रुप में बांग्लादेश, भारत, म्यांमार और पाकिस्तान के 150 से 200 आतंकी हैं। ओसामा को आसिम उमर की मौत के बाद सरगना बनाया गया था।

टीटीपी का सरगना नूर वाली ग्लोबल टेररिस्ट घोषित

सैंक्शन मॉनिटरिंग टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि अफगानिस्तान में आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) मौजूद है। इसका मुखिया पाकिस्तान का आमिर नूर वली मसूद है। मसूद को इसी महीने ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया गया है। वह दो साल से टीटीपी का सरगना है। हालांकि, मसूद के डिप्टी कारी अमजद और टीटीपी के प्रवक्ता मोहम्मद खोरसानी अभी यूएनएससी की सैंक्शन कमेटी की ओर ब्लैकलिस्ट नहीं किए गए हैं।

पाकिस्तान की आतंकी संगठनों से नजदीकी जाहिर

इस रिपोर्ट से पता चलता है कि पाकिस्तान की आतंकी संगठनों से कितनी नजदीकी है। पाकिस्तानी नागरिक आतंकी संगठनों के सरगना हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि अफगानिस्तान के 12 प्रांतों में अलकायदा अभी भी एक्टिव है। इसका मुखिया एमन अल-जवाहिरी अभी भी पाकिस्तान में बना हुआ है। मॉनिटरिंग टीम के मुताबिक अफगानिस्तान में अलकायदा के 400 से 600 के बीच लड़ाके मौजूद है। इसका हक्कानी नेटवर्क से नजदीकी संबंध है।

Next Story
Share it