Top
undefined

नवाज शरीफ ने तत्काल पाकिस्तान वापसी के खिलाफ समीक्षा याचिका दायर की

नवाज शरीफ ने तत्काल पाकिस्तान वापसी के खिलाफ समीक्षा याचिका दायर की
X

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर कर कहा कि उनका स्वास्थ्य अभी ऐसा नहीं है कि वह लंदन से वापस लौटकर 10 सितंबर तक भ्रष्टाचार के एक मामले में आत्मसमर्पण कर सकें। एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी है। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पिछले हफ्ते शरीफ को आत्मसमर्पण के लिए आखिरी मौका देते हुए 10 सितंबर को पेश होने को कहा था। अदालत ने अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में सुनवाई के लिए पेश होने का निर्देश दिया है।

अदालत ने पेश नहीं होने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी थी। शरीफ (70) पिछले साल नवंबर से लंदन में हैं। लाहौर उच्च न्यायालय ने उन्हें हृदय व अन्य रोगों के इलाज के लिए चार सप्ताह की खातिर विदेश जाने की अनुमति दी थी। तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके शरीफ को अल-अजीजिया स्टील मिल्स मामले में सात साल की सजा सुनाई गई है। डॉन समाचार पत्र ने बताया कि नवाज के वकील ख्वाजा हारिस अहमद ने बुधवार को समीक्षा याचिका दायर की और उनकी बीमारी से जुड़ी मेडिकल फाइलें पेश कीं जिन्हें लंदन के सर्जन डेविड लॉरेंस ने सत्यापित किया है।

याचिका में कहा गया है कि तथ्य यह है कि नवाज शरीफ अब भी कई गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं और कोरोना वायरस महामारी के कारण लंदन में उनके इलाज में देरी हुयी है। उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने उन्हें सख्त सलाह दी है कि वह अपना इलाज कराए बिना पाकिस्तान की यात्रा नहीं करें।

Next Story
Share it