Top
undefined

पॉल आर मिल्ग्रोम और रॉबर्ट बी विल्सन को नए नीलामी प्रारूपों के लिए मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार

पॉल आर मिल्ग्रोम और रॉबर्ट बी विल्सन को नए नीलामी प्रारूपों के लिए मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार
X

नई दिल्ली। अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार इस बार पॉल आर मिल्ग्रोम और रॉबर्ट बी विल्सन को मिला है। मिल्ग्रोम और विल्सन को यह नोबेल पुरस्कार नीलामी के सिद्धांत व नए नीलामी प्रारूपों के आविष्कारों में सुधारों के लिए मिला है। इससे पहले साल 2019 में यह पुरस्कार एमआईटी के दो शोधकर्ताओं और हॉर्वर्ड विश्वविद्यालय के एक शोधकर्ता को दिया गया था। यह पुरस्कार पाने वाले को एक करोड़ क्रोना अर्थात करीब 11 लाख अमेरिकी डॉलर प्रदान किये जाते हैं।

इस पुरस्कार को स्वीरिजेज रिक्सबैंक प्राइज इन इकोनॉमिक साइंसेज इन मेमोरी ऑफ अल्फ्रेड नोबेल नाम से भी जाना जाता है। द रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने सोमवार को एक बयान में कहा, उन्होंने उन वस्तुओं और सेवाओं के लिए नए नीलामी स्वरूपों को डिजाइन करने में अपनी अंतर्दृष्टि का उपयोग किया है, जिन्हें पारंपरिक तरीके से बेचना मुश्किल है, जैसे कि रेडियो फ्रीक्वेंसी।

नोबेल पुरस्कार साल 1901 से शुरू हुए थे। स्वीडिश आविष्कारक अल्फ्रेड नोबेल की पांचवी पुन्यतिथि से ये पुरस्कार शुरू हुए थे। अल्फ्रेड ने विस्फोटक डायनामाइट की खोज की थी। पहले नोबेल पुरस्कार भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, दवा, साहित्य और शांति के क्षेत्र में दिये गए थे।

नोबेल का जन्म स्टॉकहोम में 1833 में हुआ था। नोबेल के पिता सेना के लिए शस्त्र बनाने का कार्य करते थे। नोबेल ने 1867 में अत्यधिक प्रभावशाली विस्फोटक की खोज की थी। वे इसके युद्द में उपयोग होने से दुखी भी थे। नोबेल पुरस्कारों को प्रारंभ करने के बारे में उन्होंने अपनी वसीयत में लिखा था। नोबेल की मृत्यु दस दिसंबर 1896 में हुई थी। इसी कारण हर साल दस दिसंबर को विभिन्न क्षेत्रों में नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की जाती है। यह दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार है।

Next Story
Share it