Top
undefined

भारतीय विदेश सचिव की नेपाल यात्रा से बेचैन हुआ ड्रैगन, चीनी रक्षा मंत्री वेई करेंगे काठमांडू का दौरा

चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही रविवार को नेपाल के दौरे पर आने वाले हैं। नेपाल के विदेश मंत्रालय ने उनके इस यात्रा की जानकारी दी है। बता दें कि भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने नेपाल का दौरा किया था।

भारतीय विदेश सचिव की नेपाल यात्रा से बेचैन हुआ ड्रैगन, चीनी रक्षा मंत्री वेई करेंगे काठमांडू का दौरा
X

काठमांडू । चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही रविवार को नेपाल दौरे पर आने वाले हैं। उनका यह दौरा एक दिन का होगा। इस दौरान वह प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली और सेना प्रमुख जनरल पूर्ण चंद्र थापा से मिलने वाले हैं। नेपाल के विदेश मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। मंत्रालय का यह बयान भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला के दो दिवसीय नेपाल यात्रा के समापन के एक दिन बाद आया है। श्रृंगला का दौरा काफी महत्वपूर्ण था। गौरतलब है कि चीन के बहकावे में आकर नेपाल ने कुछ महीने पहले एक नया नक्शा जारी किया था। उसने लिपुलेख, कालापानी और लिम्पलीयाधुरा इस नक्शे में दिखाकर उस पर अपना दावा किया था। उन्होंने इस दौरे के दौरान गोरखा और मनांग जिलों में भारतीय सहायता के साथ पूरी की गई चार विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इससे पहले भारतीय सेना के प्रमुख एमएम नरवणे तीन दिवसीय दौरे पर नेपाल आए थे। दोनों की नेपाल यात्रा से चीन बेचैन हो गया और यही कारण है कि वह अपने रक्षा मंत्री को नेपाल भेज रहा है।

राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी से बातचीत करेंगे

कठमांडू आने के बाद फेंगही राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी से बातचीत करेंगे और प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के साथ मुलाकात करेंगे। वह नेपाल के सेनाध्यक्ष जनरल पूर्ण चंद्र थापा के साथ भी बैठक करेंगे। चीनी कैबिनेट के एक वरिष्ठ सदस्य वेई नेपाल ऐसे समय में आ रहे हैं जब यहां कि सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (NCP) में सत्ता को लेकर घमासान जारी है।

नेपाल की की राजनीति में चीन का दखल बढ़ा

हिमालयी देश की राजनीति में चीन का दखल बढ़ गया है। पिछले कुछ दिनों में नेपाल में चीनी राजदूत हाओ यांकी कई बार राजनीतिक बैठक कर चुकी हैं। इस महीने की शुरुआत में उन्होंने प्रधानमंत्री ओली से मुलाकात की खी और लगभग दो घंटे तक बातचीत की। समाचार एजेंसी एएनआइ ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि यह मुलाकात सत्ताधारी पार्टी की एकीकरण प्रक्रिया और पार्टी के अंदर चल रहे मुद्दों को सुलझाने को लेकर हुई थी।

Next Story
Share it