Top
undefined

ऐतिहासिक ब्रेक्जिट व्‍यापार समझौते पर हस्‍ताक्षर के बाद बोले पीएम- ब्रिटेन के लिए गर्व का क्षण

प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा कि देश के लिए यह एक अद्भुत क्षण था। उन्‍होंने एक वीडियो संदेश में कहा कि यह हम पर यह निर्भर करता है कि इसका अधिकतम लाभ उठाएं। अब देश की आर्थिक स्‍वतंत्रता हमारे हाथों में हैं।

ऐतिहासिक ब्रेक्जिट व्‍यापार समझौते पर हस्‍ताक्षर के बाद बोले पीएम- ब्रिटेन के लिए गर्व का क्षण
X

लंदन । ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन द्वारा यूरोपीय संघ के साथ ब्रेक्जिट व्‍यापार समझौते पर हस्‍ताक्षर के साथ ही दोनों देश दोस्‍त से प्रतिद्वंद्वी बन चुके हैं। प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा कि देश के लिए यह एक अद्भुत क्षण था। उन्‍होंने एक वीडियो संदेश में कहा कि यह हम पर यह निर्भर करता है कि इसका अधिकतम लाभ उठाएं। अब देश की आर्थिक स्‍वतंत्रता हमारे हाथों में हैं। उन्‍होंने कहा कि ब्रिटेन के लिए यह गर्व का क्षण है। उन्‍होंने कहा कि ब्रिटेन के लिए नई राजनयिक और आर्थिक प्राथमिकताएं निर्धारित करने का बेहतर मौका है। जॉनसन ने कहा कि ब्रिटेन अब दुनिया भर में व्‍यापार का सौदा करने के लिए स्‍वतंत्र हैं।

ईयू ये अलग होने के बाद ब्रिटेन के रोजमर्रा में आएगा बदलाव

शुक्रवार से दोनों पक्ष नए सिरे से शुरुआत करेंगे। ईयू से औपचारिक तौर पर अलग होने के 11 माह बाद शुक्रवार से ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के लिए ब्रेक्जिट वह सच्चाई हो जाएगी। इसे दोनों तरफ के लोग रोजमर्रा की जिंदगी में महसूस करेंगे। इस अलगाव के बाद ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के नागरिकों ने दूसरों के क्षेत्र में रहने और काम करने का स्वत: अधिकार खो दिया है। अब से उन्हें आव्रजन नियमों का पालन करना होगा और कार्य वीजा प्राप्त करना होगा। पर्यटकों को छोटी यात्राओं के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं होगी। गौरतलब है कि गुरुवार को ब्रिटिश संसद ने इसे 73 के मुकाबले 521 मतों से मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही ब्रिटेन दुनिया के सबसे बड़े कारोबारी संघ से अलग हो गया। दोनों देशों के बीच यह रिश्ता कुछ वर्षों का नहीं बल्कि 1,000 वर्षों के ताने-बाने में गुंथा है।

Next Story
Share it