Top
undefined

पाकिस्तान का एजुकेशन सेक्टर मुश्किल में, देश और धर्म विरोधी कंटेंट का आरोप लगाकर 100 किताबें बैन

पाकिस्तान का एजुकेशन सेक्टर मुश्किल में, देश और धर्म विरोधी कंटेंट का आरोप लगाकर 100 किताबें बैन
X

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के एजुकेशन बोर्ड ने देश और धर्म विरोधी कंटेंट का आरोप लगाकर प्राईवेट स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली 100 किताबें बैन कर दीं। 10 हजार और किताबों का रिव्यू किया जा रहा है। इन किताबों में कुछ आपत्तिजनक फोटोग्राफ हैं तो किसी चैप्टर में पीओके को भारत का हिस्सा बताया गया है।

ऑक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज की किताबें भी बैन

पंजाब के करिकुलम एंड टेक्स्टबुक बोर्ड (पीसीटीबी) के एमडी राज मंजूर हुसैन नासिर ने गुरुवार को यह फैसला लिया। उन्होंने कहा- प्राईवेट स्कूलों में पढ़ाई जा रही किताबों की समीक्षा की जा रही है। 30 कमेटी बनाई गई हैं। पहले चरण में 31 पब्लिशरों की 100 किताबें बैन की गई हैं। इसमें ऑक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज की किताबेंं भी शामिल हैं। इन किताबों में देश और धर्म विरोधी कंटेंट है।

पाकिस्तान के बनने के बारे में गलत जानकारी

नासिर ने कहा- किताबों की समीक्षा से पता चला है कि पाकिस्तान और इसके बनने के बारे में गलत जानकारी दी जा रही है। कायदे आजम मुहम्मद अली जिन्ना और अल्लामा मुहम्मद इकबाल के बारे में गलत पढ़ाया जा रहा है। पाकिस्तान को भारत से कमजोर बताया गया है। पीओके को भारत का हिस्सा दिखाया गया है। कई किताबों में महात्मा गांधी से जुड़े चैप्टर भी हैं।

धर्म विरोधी कंटेंट

आरोप है कि कई किताबों में धर्म विरोधी कंटेंट है। इनके पब्लिशरों पर बैन लगा दिया गया है। अब इस तरह की किताबें नहीं बेची जा सकेंगी। दूसरे राज्यों में भी किताबों की समीक्षा की जाएगी।

Next Story
Share it