Top
undefined

जर्मनी में लेबनान के राजदूत मुस्तफा अदीब प्रधानमंत्री के रूप में नामित, विरोध के बाद 11 अगस्त को पीएम हसन दियाब ने इस्तीफा दे दिया था

जर्मनी में लेबनान के राजदूत मुस्तफा अदीब प्रधानमंत्री के रूप में नामित, विरोध के बाद 11 अगस्त को पीएम हसन दियाब ने इस्तीफा दे दिया था
X

बेरुत। जर्मनी में लेबनान के राजदूत मुस्तफा अदीब को देश का नया प्रधानमंत्री नामित किया गया। लेबनान की राजधानी बेरुत में 4 अगस्त को हुए धमाके के चलते प्रधानमंत्री हसन दियाब ने अपनी पूरी कैबिनेट के साथ इस्तीफा दे दिया था। न्यूज एजेसी सिन्हुआ के मुताबिक, अदीब 128 में से 90 वोट हासिल करने में सफल रहे हैं। रविवार को हुई बैठक में अदीब को पूर्व प्रधानमंत्रियों का भी साथ मिला। अदीब ने बाबदा पैलेस में राष्ट्रपति मिशेल एउन से मुलाकात के बाद सोमवार को कहा- यह देश के लिए काम करने का समय है। लेबनान में एक बार फिर उम्मीद कायम करने के लिए सभी पार्टियों को मिलकर काम करना होगा।

उन्होंने कहा- लोग अपने वर्तमान और भविष्य को लेकर चिंतित हैं। उम्मीद है कि हम देश के विकास और तेजी से सुधार के लिए पेशेवर लोगों के साथ सरकार बना सकेंगे।

धमाके के बाद लोगों ने प्रधानमंत्री हसन दियाब के विरोध में कई दिनों तक प्रदर्शन किया था। इसके बाद उन्होंने कैबिनेट के साथ 11 अगस्त को इस्तीफा दे दिया था। वे जनवरी में देश का प्रधानमंत्री बने थे। लोगों ने उनकी सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। राष्ट्रपति मिशेल एउन ने नई कैबिनेट के गठन तक दियाब की सरकार को केयर टेकर की भूमिका में बने रहने के लिए कहा था।

कौन हैं अदीब

जर्मन मीडिया डीडब्ल्यू के मुताबिक, अदीब 2013 से जर्मनी में लेबनान के राजदूत हैं। वे पूर्व प्रधानमंत्री नजीब मिकाती के सलाहकार भी रह चुके हैं। लेबनान की राजनीतिक और संप्रदाय व्यवस्था के तहत केवल सुन्नी मुसलमान ही पीएम बन सकता है।

2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में धमाका हुआ था

बेरुत पोर्ट पर शिपमेंट में 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में धमाका हुआ था। इसमें 190 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 6500 लोग घायल हो गए थे। धमाका इतना तेज था कि इसकी धमक 240 किलोमीटर दूर तक महसूस की गई थी। इस हादसे में 3 बिलियन डॉलर (22,540 करोड़ रु.) का नुकसान हुआ था। साथ ही शहर के तीन लाख लोग बेघर हो गए थे।

Next Story
Share it