Top
undefined

तेहरान से यूक्रेन जा रहे विमान हादसे में सवार 167 यात्रियों और नौ क्रू मेंबर्स की मौत

विमान में 170 यात्री और क्रू मेंबर्स थे सवार, उड़ान के तुरंत बाद हादसा

तेहरान से यूक्रेन जा रहे विमान हादसे में सवार 167 यात्रियों और नौ क्रू मेंबर्स की मौत
X

यात्री और 9 क्रू मेंबर्स मारे गए हैं। इस दुर्घटना के बाद अब ऐसी रिपोर्ट आ रही है कि विमान को साजिशन निशाना बनाया गया है। बताया जा रहा है कि जमीन पर गिरने से पहले विमान आग की लपटों से घिर गया था।

साजिश के तहत बनाया गया शिकार?

मेल ऑनलाइन में प्रकाशित खबर के अनुसार, पहले तकनीकी खामी के कारण विमान हादसा बताया जा रहा था, लेकिन अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि विमान को साजिशन शिकार बनाया गया है। एक विडियो जारी किया गया है जिसके बाद यह अनुमान लगाया जा रहा है कि विमान को निशाना बनाकर यह हमला किया गया। विडियो में दिख रहा है कि विमान जमीन को छूने से पहले ही आग की लपटों से घिर गया था।

विडियो में विमान जमीन पर गिरने से पहले ही आग की लपटों में झुलसा

मेल ऑनलाइन में प्रकाशित खबर के अनुसार, ईरान में बीबीसी के संवाददाता ने एक विडियो फुटेज ट्विटर पर शेयर की है। विडियो फुटेज में नजर आ रहा है कि विमान जमीन को छूने से पहले ही आग की लपटों से आसमान में घिर गया था। इसके बाद से आशंका जताई जा रही है कि शायद ईरानी बलों ने ही विमान को गलती से निशाना बनाया हो। आज ही ईरान ने अमेरिकी बेस पर दर्जन भर मिसाइलें दागी हैं।

शुरुआत में विमान हादसे की वजह बताई तकनीकी खामी

इरान के आपातकालीन सेवा से जुड़े अधिकारी ने सरकारी टेलिविजन को बताया कि प्लेन में सवार सभी लोगों की मौत हो गई है। शुरुआती रिपोर्ट में तकनीकी खामी की बात आई है। उड़ान भरने के तुरंत बाद ही विमान क्रैश हो गया था। विमान ने इमाम खमनेई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी। कोई विस्तृत जानकारी दिए बिना कहा गया कि तकनीकी खराबी के कारण दुर्घटना होने की आशंका है। नागरिक उड्डयन के प्रवक्ता रजा जफरजादेह ने बताया कि तेहरान के दक्षिण-पश्चिमी इलाके में जांच दल मौजूद है। वेबसाइट 'फ्लाइटरडार24' के अनुसार यूक्रेन अंतरराष्ट्रीय एयरलाइन की यूक्रेन 737-800 ने बुधवार सुबह उड़ान भरी थी और उसके तुरंत बाद क्रैश होने की सूचना आई। ईरान के इराक में अमेरिकी बलों पर बैलिस्टिक मिसाइलें दागने के कुछ घंटों बाद यह हादसा हुआ है। ईरान ने उसके रिवोल्यूशनरी गार्ड जनरल कासिम सुलेमानी के अमेरिकी हवाई हमले में मारे जाने के बाद यह कार्रवाई की हैं।

Next Story
Share it