Top
undefined

अमेरिका में गृह युद्ध जैसे हालात, हिंसा जारी, दुकानों में लूटपाट , 40 से ज्यादा शहरों में कर्फ्यू

अमेरिका में गृह युद्ध जैसे हालात, हिंसा जारी, दुकानों में लूटपाट , 40 से ज्यादा शहरों में कर्फ्यू
X

वाशिंगटन . अमेरिका में एक अश्वेत की मौत के बाद लगातार छठवें दिन भी हिंसा जारी है। राजधानी वॉशिंगटन सहित देश के 40 से ज्यादा शहरों में उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। राष्ट्रपति ट्रंप के आधिकारिक निवास के पास पुलिस और सीक्रेट सर्विस की सहायता के लिए यूएस नेशनल गार्ड्स को तैनात किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वाशिंगटन डीसी में पुलिस ने वाइट हाउस के पास कई संपत्तियों में आग लगाने वाले प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे। व्हाइट हाउस के सामने प्रदर्शन के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को कुछ देर के लिए अंडरग्राउंड बंकर में ले जाना पड़ा था।

सोमवार को भी न्यूयॉर्क, शिकागो, फिलाडेल्फिया और लॉस एंजिल्स में प्रदर्शनकारियों के साथ पुलिस की झड़प हुई। हिंसक भीड़ ने पुलिस की कई कारों को आग के हवाले कर दिया है जबकि कई दुकानों को लूट लिया गया है। स्थानीय पुलिस से मामला काबू में होता न देखकर कई शहरों में अमेरिका की रिजर्व फोर्स नेशनल गार्ड्स को तैनात किया गया है। अमेरिका में दंगे के आरोप में 4,100 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जगह-जगह पर नेशनल गार्ड के जवान गश्त लगा रहे हैं। इन लोगों में से अधिकतर को अस्थाई जेलों में रखा गया है।

अमेरिका के 75 से ज्यादा शहरों में विरोध प्रदर्शन हुए हैं। जो शहर कुछ दिनों पहले कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण पूरी तरह बंद थे और सड़कें सूनसान पड़ी थी, वहां अब हजारों की संख्या में भीड़ कंधे से कंधा मिलाकर विरोध प्रदर्शन करती दिखाई दे रही है। फिलाडेल्फिया में दंगाइयों ने पुलिस की कारों में तोड़फोड़ की और आग लगा दी।

इतना ही नहीं, उन्होंने कई दुकानों को लूटपाट भी की। कैलिफोर्निया के सांता मोनिका में भी लूटपाट की खबरें आ रही है। अटलांटा और जॉर्जिया में भी भीड़ पर आंसू गैस के गोले दागने और लाठीचार्ज करने के बाद दो पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई की गई है। ह्यूस्टन में भी बड़ी संख्या में लोगों ने सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अलग-अलग शहरों में जारी हिंसा के लिए देश के वामपंथ को जिम्मेदार ठहराया है। दंगाई निर्दोष लोगों को डरा रहे हैं, नौकरियों को नष्ट कर रहे हैं, बिजनेस को नुकसान पहुंचा रहे हैं और बिल्डिंग्स को जला रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि जॉर्ज फ्लॉयड की याद को दंगाइयों, लुटेरों और अराजकतावादियों ने बदनाम किया है। ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा कि नेशनल गार्ड को मिनियापोलिस में हालात को काबू में करने के लिए उतार दिया गया है जो डेमोक्रेटिक पार्टी के मेयर नहीं कर सके। इनका दो दिन पहले ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए। अब कोई और नुकसान नहीं होगा।

Next Story
Share it