Top
undefined

मरियम नवाज समेत 44 विपक्षी नेताओं पर देशद्रोह का मामला दर्ज

मरियम नवाज समेत 44 विपक्षी नेताओं पर देशद्रोह का मामला दर्ज
X

मरियम नवाज समेत 44 विपक्षी नेताओं पर देशद्रोह का मामला दर्ज

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की पुलिस ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी और विपक्षी नेता मरियम नवाज पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया है। मरियम की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के 44 कार्यकर्ताओं को भी इसमें आरोपी बनाया गया है। मरियम और उनकी पार्टी कार्यकर्ताओं पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। पुलिस का कहना है उन्होंने अपने भाषण में लोगों से पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग- थलग करने की बात कही। कहा कि पाकिस्तान में कानून व्यवस्था पूरी तरह से विफल हो चुकी है।

इस बीच इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने सोमवार को पाकिस्तान में नवाज के भाषणों पर रोक लगाने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी। कोर्ट ने कहा कि राजनीतिक मामलों में कोर्ट के संवैधानिक अधिकारों का इस्तेमाल सही नहीं होगा। देश के लोगों अपने चुने हुए प्रतिनिधियों के जरिए पाकिस्तान के हितों की रक्षा कर सकते हैं। सिर्फ किसी के राजनीति भाषण देने से पाकिस्तान को खतरा नहीं हो सकता।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भाषण दे रहे हैं नवाज

70 साल के नवाज का लंदन में पिछले साल नवंबर से इलाज चल रहा है। कोर्ट की ओर से बार-बार समन भेजे जाने के बाद भी नवाज पेश नहीं हुए। इसे देखते हुए उन्हें भगोड़ा घोषित कर दिया जा चुका है। ऐसे में नवाज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पार्टी कार्यकर्ताओं से बात करते हैं। उनकी पार्टी ने आठ इमरान सरकार के खिलाफ मुहीम शुरू करने के लिए सात दूसरी पार्टियों के साथ पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) बनाया है। इसकी कई मीटिंग में भी वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए हैं। अपने भाषणों में सरकार में सेना के दखल का मुद्दा उठाने की वजह से उनके भाषणों पर रोक लगाने की कोशिश की जा रही है।

11 अक्टूबर को होगी पीडीएम की पहली रैली

इस बीच पीडीएम ने कहा है कि सरकार के खिलाफ इसकी पहली रैली 11 अक्टूबर को क्वेटा में होगी। पीडीएम विपक्षी पार्टियों के सांसदों को सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए भी मनाने में जुटा है। इसके साथ ही सरकार पर दबाव बनाने के लिए विपक्षी सांसद एक साथ इस्तीफा भी दे सकते हैं। देश की राजनीति में सेना के दखल को लेकर विपक्षी पार्टियां नाराज हैं। इस रैली से पहले गठबंधन में शामिल नेताओं को या तो गिरफ्तार किया जा रहा है या उनपर गंभीर मामले दर्ज कराए जा रहे हैं।

Next Story
Share it