Top
undefined

शिनजियांग में उइगरों पर चीन के अत्याचारों के खिलाफ वेबिनार 8 अक्टूबर को

शिनजियांग में उइगरों पर चीन के अत्याचारों के खिलाफ वेबिनार 8 अक्टूबर को
X

बीजिंग। शिनजियांग में चीनी सरकार द्वारा मानवाधिकारों का उल्लंघन रोकने के लिए चलाए गए अभियान के तहत उइगर कार्यकर्ताओं द्वारा 8 अक्टूबर को एक वेबिनार का आयोजन किया जाएगा, जिसमें उइगरों के उत्पीड़न का विरोध किया जाएगा। दक्षिण एशिया डेमोक्रेटिक फ़ोरम द्वारा आयोजित इस वेबिनार में 'ईस्ट में तुर्कस्तान में इस्लाम के उत्पीड़न' टाइटल के तहत चीन के अत्याचारों पर लगाम लगाने के मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

वेबिनार का संचालन अभियान के संस्थापक और कार्यकारी निदेशक रसान अब्बास करेंगे। इसके अलावा इंस्टीट्यूट फॉर गिलगित बाल्टिस्तान स्टडीज के अध्यक्ष सेगेन हसन सेरिंग भी मुख्य प्रवक्ताओं में से एक होंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन में 18 लाख उइगर मुसलमान कैद में हैं, 10 लाख मुसलमानों को बंदी कैंपों में में रखा गया है और इनसे बंधुआ मज़दूरों की तरह काम लिया जाता है। पिछले तीन सालों में 10 से 15 हज़ार मस्जिदें झिनझियांग प्रांत में नष्ट की जा चुकी हैं।

बता दें कि चीन में उइगरों से धार्मिक, आर्थिक और सांस्कृतिक आज़ादी छीनी जा रही है। पिछले करीब दो दशकों से इस प्रांत में चीन का दमन बेहद बढ़ चुका है। रिपोर्ट्स की मानें तो रमज़ान में रोज़ा रखने पर प्रतिबंध हैं, कुछ स्थानों पर मस्जिदों में नमाज़ नहीं पढ़ने दी जा रही और तो और दाढ़ी रखने, बुर्का पहनने और त्योहार मनाने की इजाज़त तक नहीं है।

Next Story
Share it