Top
undefined

सबसे खतरनाक फ़ुटबाल ला रहे है डोनाल्ड ट्रम्प अपने साथ, जानिए क्या है फ़ुटबाल का रहस्य

ये एक रहस्य है जो अमूमन दुनिया को पता नहीं है कि डोनाल्ड ट्रम्प जहां जाते हैं उनके साथ हमेशा एक फ़ुटबाल होती है. इस रहस्य्मय फुटबॉल के साथ जुडी है अमरीकी राष्ट्रपति की सुरक्षा..किस तरह की है ये फ़ुटबाल, जानिये हमसे .

सबसे खतरनाक फ़ुटबाल ला रहे है डोनाल्ड ट्रम्प अपने साथ, जानिए क्या है फ़ुटबाल का रहस्य
X

नई दिल्ली. फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रम्प के साथ अमरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दो दिन के दौरे पर भारत आ रहे हैं. उनका आगमन 24 फरवरी को अहमदाबाद में होगा. गुजरात सरकार ने उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं. सिर्फ गुजरात में ही नहीं अहमदाबाद से लेकर आगरा और दिल्ली तक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सुरक्षा अभेद रहेगी. डोनाल्ड ट्रंप के दौरे पर एक तरफ तो उनके चारों तरफ रहेगी भारत की सुरक्षा व्यवस्था और दूसरी तरफ ट्रम्प के साथ होगा उनका अपना सुरक्षा दस्ता. इसके आलावा भी कुछ होगा डोनाल्ड ट्रम्प के साथ जो उनकी खास सुरक्षा करेगा, ये है एक फुटबॉल.

साधारण फुटबॉल नहीं बल्कि एक 'न्यूक्लियर फुटबॉल'

डोनल्ड ट्रम्प की सुरक्षा की यह विशेष व्यवस्था है जिसके अंतर्गत डोनाल्ड ट्रम्प जहां जाते हैं उनके साथ एक फुटबॉल रखी जाती है. यह कोई साधारण फुटबॉल नहीं बल्कि एक 'न्यूक्लियर फुटबॉल' है. ये न्यूक्लिअर फ़ुटबाल इतनी खतरनाक है कि ये एक लम्हे में सारी दुनिया को तबाह कर सकती है. इस न्यूक्लियर फुटबॉल को सीक्रेट ब्रीफकेस भी कहा जाता है, जिसे स्वयं राष्ट्रपति नहीं बल्कि उनकी सुरक्षा के कमांडोज़ हाथ में लिए होते हैं. साथ चल रहे दूसरे कमांडोज़ के हांथ में हथियारों से लैस एक ब्रीफकेस भी होता है ताकि इस न्यूक्लियर फुटबॉल को छीनने की किसी कोशिश को नाकाम किया जा सके.

सीक्रेट बॉक्स होता है फ़ुटबाल

यह न्यूक्लिअर फ़ुटबाल सीक्रेट बॉक्स में होता है जो एक ब्रीफकेस के भीतर होता है. परमाणु हमले के लिए सीक्रेट कोड और अलार्म इससे जुड़ा होता है और काले ब्रीफकेस के भीतर यह न्यूक्लियर फुटबॉल महफूज रखी जाती है जो दरअसल कोई असली वाली फुटबॉल नहीं होती. यह काला ब्रीफकेस एक टॉप सीक्रेट ब्रीफकेस है जो दुनिया का सबसे खरनाक ब्रीफकेस माना जाता है. यह हमेशा अमेरिका के राष्ट्रपति के पास में रखा जाता है जिसमें रखे संचार उपकरण आपात स्थिति में राष्ट्रपति से परमाणु हमले की अनुमति लेते हैं.

प्रेसिडेंटस के साथ साठ सालों से है ये फ़ुटबाल

यह विशेष फ़ुटबाल 1962 से लेकर आज तक अमेरिका के प्रत्येक राष्ट्रपति उनके सुरक्षा घेरे के तौर पर रहती है. न्यूक्लियर फुटबॉल के रूप में इसे सुरक्षा उद्देश्य से ही तैयार किया गया है जो कि अमेरिकी राष्ट्रपति के पास हमेशा परमाणु युद्ध के विकल्प मौजूद रखता है. अक्सर देखा जाता है कि अपने विदेश दौरों के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति इसे अपने हाथ में भी लेकर रखते हैं अन्यथा यह उनके सबसे करीब सुरक्षा कमांडो के हांथ में रहती है.

Next Story
Share it