Top
undefined

कोरोना वायरस को लेकर ट्रम्प का बयान : कोरोना बिना वैक्सीन के ही चला जाएगा, फिर दोबारा नहीं आएगा

अमेरिका में बढ़ती महामारी के बीच डोनाल्ड ट्रंप हर दिन नए-नए दावे कर रहे हैं. अब अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि कोरोना वायरस बिना वैक्सीन के ही खत्म हो जाएगा.

कोरोना वायरस को लेकर ट्रम्प का बयान : कोरोना बिना वैक्सीन के ही चला जाएगा, फिर दोबारा नहीं आएगा
X


नई दिल्ली। दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका कोरोना वायरस महामारी की चपेट में है. देश में दो महीने में कोरोना से 78 हजार लोगों की मौत हो गई है. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि कोरोना वायरस बिना वैक्सीन के ही खत्म हो जाएगा. उन्होंने ये भी कहा कि अमेरिका महानता की तरफ बढ़ रहा है. ये बात राष्ट्रपति ट्रंप ने शुक्रवार को व्हाइट हाउस में अपनी पार्टी रिपब्लिकन के सांसदों से बातचीत के दौरान कही.

ट्रंप ने कहा, "कोरोना बिना वैक्सीन के ही चला जाएगा. फिर दोबारा नहीं आएगा. इससे पहले भी दुनिया में ऐसे वायरस और फ्लू आए, उनकी वैक्सीन नहीं मिली और फिर गायब हो गए. वो दोबारा नहीं आए."

ट्रंप का कहना है कि ये बात वह डॉक्टरों से बातचीत के आधार पर कह रहे हैं. लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि कोरोना इसी साल चला जाएगा. एक दिन वायरस चला जाएगा. ट्रंप ने ये भी कहा, अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है, अगर वैक्सीन होती तो ज्यादा मददगार साबित होती.

अमेरिका में बिगड़ते जा रहे हालात

कोरोना की वजह से पूरी दुनिया प्रभावित है. कई देश बड़ी महामारी की ओर बढ़ रहे हैं, लेकिन सबसे ज्यादा बर्बादी अमेरिका में हो रही है. दुनिया में वायरस से 2.76 लाख मौतें हो चुकी हैं, इनमें से 78 हजार से ज्यादा मौतें अकेले अमेरिका में हुई हैं. ये आंकड़ा हर रोज बढ़ता ही जा रहा है.

अमेरिका ने बेरोजगारी के रूप में अपना सबसे खराब दौर 1933 में देखा था जब दुनिया वैश्विक मंदी की चपेट में थी, जिसकी शुरुआत अमेरिका से ही हुई थी. उस वक्त अमेरिका में बेरोजगारी की दर 25 फीसदी तक पहुंच गई थी. अब भी अमेरिकी अर्थशास्त्री इस बात की आशंका जता रहे हैं कि अमेरिका में मई के महीने में बेरोजगारी की दर 20 फीसदी को पार कर जाएगी, क्योंकि अगले कुछ महीनों तक तो अर्थव्यवस्था का पटरी पर लौटना नामुमकिन दिख रहा है. एक अनुमान ये भी है कि बेरोजगारी की ये रफ्तार 2021 तक भी जारी रह सकती है.

Next Story
Share it