Top
undefined

UN ने शीर्ष ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन की हत्‍या के बाद ईरान से संयम बरतने की अपील

शुक्रवार को शीर्ष ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन की हत्‍या के बाद संयम बरतने और मध्‍य पूर्व क्षेत्र में पलायन से बचने का आह्वान किया है। इसके पूर्व ईरान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के महासचिव और सुरक्षा परिषद से मोहसिन की हत्‍या की निंदा करने की अपील की थी।

UN ने शीर्ष ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन की हत्‍या के बाद ईरान से संयम बरतने की अपील
X

तेहरान । संयुक्‍त राष्‍ट्र के प्रवक्‍ता ने शुक्रवार को शीर्ष ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन की हत्‍या के बाद संयम बरतने और मध्‍य पूर्व क्षेत्र में शांति का आह्वान किया है। इसके पूर्व ईरान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के महासचिव और सुरक्षा परिषद से अपने शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की हत्‍या की निंदा करने की अपील की थी। ईरान ने इसे राज्‍य प्रायोजित हत्‍या करार दिया है। ईरान के संयुक्‍त राष्‍ट्र के राजदूत तख्‍त रवांची ने कहा है कि मोहसिन की हत्‍या अंतरराष्‍ट्रीय कानूनों का पूरी तरह से उल्‍लंघन है। इससे क्षेत्र में अशांति फैलाने के मकसद से अंजाम दिया गया। बता दें कि ईरान के गुप्त परमाणु बम कार्यक्रम के अगुआ शीर्ष वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की शुक्रवार को तेहरान के निकट घात लगाकर हत्या कर दी गई। इस घटना से तमतमाए ईरान के सुप्रीम नेता अयातुल्ला अली खामनेई के सैन्य सलाहकार और कमांडर होसैन देहघान ने फखरीजादेह के हत्यारों पर कहर बरपाने की धमकी दी है। उन्होंने कहा कि इस कायरतापूर्ण हमले में इजरायल का हाथ साफ-साफ समझ में आ रहा है। उल्लेखनीय है यह हमला एक अन्य वैज्ञानिक की माजिद शहरियारी की दसवीं बरसी से कुछ दिन पहले ही हुआ है। ईरान, शहरियारी की हत्या के पीछे भी इजरायल का हाथ मानता है। इस घटनाक्रम से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के आखिरी कुछ सप्ताह में ईरान और उसके शत्रुओं के बीच टकराव बढ़ने के आसार बनते दिख रहे हैं। ईरान के विदेश मंत्री मुहम्मद जावद जरीफ ने भी एक ट्वीट में हत्या में इजरायल का हाथ होने का शक जताया है। लेकिन इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय तथा अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने हमले पर कोई टिप्पणी नहीं की है। हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इजरायली खुफिया एजेंसी मोसाद के जानकार पत्रकार योस्सी मेलमैन के एक ट्वीट को रीट्वीट किया है, जिसमें इस हत्या को ईरान के लिए बड़ा मनोवैज्ञानिक तथा पेशेवर आघात बताया गया है।

Next Story
Share it