Top
undefined

अमित शाह ने कहा- गांवों के विकास में जुटी है मोदी सरकार, राजनाथ ने दी सरपंचों को बधाई

गृहमंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर शुक्रवार को ग्रामीण भारत के विकास के लिए मोदी सरकार को प्रतिबद्ध बताया।

अमित शाह ने कहा- गांवों के विकास में जुटी है मोदी सरकार, राजनाथ ने दी सरपंचों को बधाई
X

नई दिल्ली: गृहमंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर शुक्रवार को ग्रामीण भारत के विकास के लिए मोदी सरकार को प्रतिबद्ध बताया। भाजपा के दोनों शीर्ष नेताओं ने बताया कि कैसे मोदी सरकार देश के गांवों के विकास में लगी हुई है। उन्होंने ग्रामीण भारत के विकास से जुड़े लोगों को बधाई भी दी। अमित शाह और राजनाथ सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने पंचायती राज को बल देने का काम किया। 24 अप्रैल, 1993 को संविधान में हुए 73वें संशोधन के बाद से उस दिन को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के रूप में मनाया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस मौके पर आज दिन में 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सरपंचों को संबोधित करेंगे। वहीं प्रधानमंत्री इस दौरान ई- ग्राम स्वराज पोर्टल और मोबाइल ऐप भी लॉन्च करेंगे। गृहमंत्री अमित शाह ने पंचायती राज दिवस पर बताया कि किस तरह से मोदी सरकार ने गांवों के विकास को दिशा दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण, किसान सम्मान निधि, फसल बीमा योजना जैसी अनेकों कल्याणकारी योजनाओं से मोदी सरकार ने किसानों व ग्रामीण भारत के विकास को एक अभूतपूर्व गति व दिशा दी। राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर मैं ग्रामीण भारत के विकास और कल्याण से जुड़े सभी लोगों को बधाई देता हूं।" अमित शाह ने अपने एक और ट्वीट में मोदी सरकार की गांवों की जनता को ध्यान में रखकर चलाई गई योजनाओं का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, " प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने हर नीति और निर्णय के केंद्र में ग्रामीण भारत व किसानों को रखकर पंचायती राज को बल देने का काम किया। हर गांव में बिजली व सड़क, बेघर को घर और हर घर में शौचालय व रसोई गैस पहुंचाकर पीएम मोदी ने हर पंचायत को नए भारत की यात्रा में सहभागी बनाया।" गृहमंत्री अमित शाह ने ग्रामीण भारत को संस्कृति और समृद्धि की नींव बताया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, " ग्रामीण भारत हमारी संस्कृति व समृद्धता की नींव है और इसे शक्ति देने का काम पंचायती राज व्यवस्था ने किया है। भारत का विकास ग्रामीण भारत के विकास में निहित है। इसीलिए भारतीय संविधान ने ग्राम पंचायतों को अधिक से अधिक सशक्त कर उन्हें 'स्वशासन के संस्थानोंÓ के रूप में स्थापित किया। वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी पंचायती राज दिवस पर अपने विचार व्यक्त किए। राजनाथ सिंह ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को देश की प्रगति की धुरी करार दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "भारत की ग्रामीण अर्थव्यवस्था इस देश की प्रगति की धुरी है। इसकी मजबूती, विस्तार और विकास के लिए देश में पंचायती राज संस्थाओं का सशक्तिकरण किया गया है। पंचायती राज संस्थाएं आज भारत के गांव, गरीब और किसान के लिए काम करने के लिए सक्षम और स्वायत्त हैं।" राजनाथ सिंह ने दूसरे ट्वीट में ग्रामीण भारत को मजबूत बनाने का श्रेय प्रधानमंत्री मोदी को देते हुए कहा, "पंचायती राज दिवस के दिन मैं ग्रामीण भारत को मजबूती देने का काम कर रहे सभी लोगों, विशेषकर ग्राम सरपंचों एवं पंचायत समितियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार सभी राज्यों के साथ सशक्त ग्रामीण भारत का भी निर्माण कर रही हैं।" बता दें कि इससे पूर्व बीते 22 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा था, "24 अप्रैल, शुक्रवार को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मैं देशभर के सरपंचों के साथ संवाद करूंगा। मुझे इस बातचीत की प्रतीक्षा रहेगी।"

Next Story
Share it
Top