Top
undefined

दिल्ली पुलिस मौलाना साद को गिरफ्तार करने की तैयारी में

पुलिस मौलाना साद के होम क्वारैंटाइन का समय पूरा होने का इंतजार कर रही, कोरोना पर लोगों को गुमराह करने का आरोप

दिल्ली पुलिस मौलाना साद को गिरफ्तार करने की तैयारी में
X

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच तब्लीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद को गिरफ्तार करने की तैयारियों में जुट गई है। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने साद और एफआईआर में नामजद सभी लोगों के खिलाफ सबूत जुटा लिए हैं, अब उनसे किसी जगह पर पूछताछ सकती है। क्राइम बांच अपनी टीम में डॉक्टरों को भी शामिल करेगी, जिससे मौलाना जांच में मेडिकल वजहों से बहानेबाजी नहीं कर सके। पहले सभी आरोपियों से अलग-अलग पूछताछ होगी। इसके बाद उन्हें आमने-सामने बैठाकर भी सवाल किए जाएंगे। दिल्ली के निजामुद्दीदन मरकज में 1 से 15 मार्च के बीच हुए कार्यक्रम में देश-विदेश के 5 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे, लेकिन इसके बाद भी करीब 2000 लोग यहां रुके रहे, जबकि ज्यादातंर लॉकडाउन से पहले अपने घरों को लौट गए। मौलाना पर इस आयोजन में शामिल लोगों को कोरोना पर गुमराह करने और लोगों की जान खतरे में डालने का आरोप है। क्राइम बांच अब तक दो बार उसे नोटिस जारी कर चुकी है। मौलाना पूछताछ में सहयोग नहीं करने के लिए कई बहाने बना सकता है। वह होम क्वारैंटाइन से त़ुरंत लौटने की बात कहकर सवालों को टाल सकता है। पुलिस इन सभी पहलुओं को ध्यान में रख रही है। क्राइम ब्रांच ने क्वारैंटाइन में मौलाना की मेडिकल जांच करवाने और तब्लीगी जमात मुख्यालय से किसी तरह का दस्तावेज जब्त करने की बात पर कुछ भी बताने से इनकार किया है।

पुलिस को मौलाना के क्वारैंटाइन का समय खत्म होने का इंतजार

साद और उसके साथियों के अग्रिम जमानत के लिए आवेदन करने की संभावना पर पुलिस ने कहा कि कानून सभी के लिए है। हालांकि, आरोपियों को पुलिस के सवालों का जवाब देना ही होगा। अभी पुलिस को बताया गया है कि मौलाना होम क्वारैंटाइन में हैं। हम उसके क्वारैंटाइन का समय पूरा होने का इंतजार कर रहे हैं, क्योंकि कोरोना के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना भी अहम है। पुलिस पूरी तरह से तैयार है। फिलहाल सबूत की ज्यादा जरूरत नहीं होगी। आगे की कार्रवाई आरोपियों के बयान के आधार पर होगी।

मरकज से जुड़े लोग जांच में सहयोग नहीं कर रहे

क्राइम ब्रांच फिलहाल मरकज में जांच- पड़ताल शुरु कर चुकी है। मरकज के अंदर कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं मिला। साथ ही मरकज से जुड़े लोग भी सहयोग नहीं कर रहे। इससे पहले पुलिस ने मरकज प्रशासन से जानकारी मांगी थी कि 13 मार्च के बाद मरकज में जो लोग आए थे, उनका उपस्थिति रजिस्टर दिया जाए। यह भी पूछा कि 13 तारीख के दिल्ली सरकार के भीड़ इकट्ठा न होने के आदेश के बाद मरकज ने अपने यहां से लोगों को निकालने के लिए क्या कदम उठाए?

Next Story
Share it
Top