Top
undefined

मानसून सत्र स्थगित होने पर बोले शिवराज और कमलनाथ, 'फिलहाल सत्र चलाना संभव नहीं'

विधानसभा में हुई सर्वदलीय बैठक के बाद 20 जुलाई से शुरु होने वाले मानसून सत्र को कोरोना संक्रमण के चलते स्थगित कर दिया गया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी इस फैसले पर सहमति जताई। दोनों नेताओं ने कहा कि, फिलहाल वर्तमान परिस्थितियों में सत्र चलाना संभव नहीं है।

मानसून सत्र स्थगित होने पर बोले शिवराज और कमलनाथ, फिलहाल सत्र चलाना संभव नहीं
X

भोपाल। 20 जुलाई से शुरू हो रहे मानसून सत्र को विधानसभा में हुई सर्वदलीय बैठक के बाद स्थगित कर दिया गया है। कोरोना संक्रमण के चलते सत्र को स्थगित करने के लिए पक्ष और विपक्ष दोनों के नेताओं ने सहमति जताई। सर्वसम्मति से विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने सत्र को स्थगित कर दिया।

सीएम ने कहा- कोरोना के चलते स्थगित किया गया सत्र

सत्र को स्थगित किए जाने पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, कोरोना के चलते जिस तरह की परिस्थितिया फिलहाल हैं, ऐसे हालातों में विधानसभा का सत्र आयोजित कराया जाना सही नहीं था। जिसके चलते विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति से सभी ने सत्र को स्थगित किए जाने का फैसला स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि, फिलहाल सभी का लक्ष्य कोरोना को रोकना है, इसलिए अभी सत्र नहीं किया जाएगा।

कमलनाथ ने कहा- सत्र स्थगित करने का फैसला सही

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी बजट सत्र को टालने पर सहमति जताते हुए कहा कि, जिस तरीके से पूरे देश में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल रहा है, ऐसे में गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार कोई भी बड़े कार्यक्रम आयोजित नहीं हो सकते हैं। विधानसभा सत्र के दौरान हजारों की संख्या में लोग एक ही जगह इक_ा होते हैं, सेंट्रल हॉल की वजह से संक्रमण का खतरा ज्यादा था। इसलिए सभी ने सत्र को टालने का निर्णय लिया है। प्रोटेम स्पीकर रामेस्वर शर्मा ने कहा कि, गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार 20 से ज्यादा लोग एक जगह इक_े नहीं होने चाहिए। इसलिए सत्र को स्थगित किया गया है। जबकि विधायकों और अधिकारियों- कर्मचारियों की सुरक्षा के चलते भी ये फैसला लिया गया है। सत्र को स्थगित किए जाने का प्रस्ताव राज्यपाल को भेजा जाएगा। बता दें कि, 20 जुलाई से विधानसभा का मानसून सत्र आयोजित होना था, लेकिन प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए, सर्वदलीय बैठक कर सत्र को स्थिगित करने का फैसला लिया गया।

Next Story
Share it
Top