Top
undefined

अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की बैठक आज, राम मंदिर शिलान्यास की तारीख का ऐलान हो सकता है

महंत नृत्यगोपाल दास ने प्रधानमंंत्री को मंदिर की आधारशिला रखने के लिए न्योता दिया है

अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की बैठक आज, राम मंदिर शिलान्यास की तारीख का ऐलान हो सकता है
X

अयोध्या, रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की आज दोपहर तीन बजे से अयोध्या में बैठक होगी। इसमें मंदिर के शिलान्यास की तारीख की घोषणा हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या में संभावित कार्यक्रम पर भी विचार हो सकता है। ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास बैठक प्रधानमंत्री को अयोध्या आने का निमंत्रण पत्र भेज चुके हैं। बैठक में शामिल होने के लिए ट्रस्ट के सदस्य भी अयोध्या पहुंच चुके हैं। संतों को अब जल्द राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास का इंतजार है।

3 या 5 अगस्त के कार्यक्रम पर सहमति बन सकती है

मणिराम छावनी मठ के महंत कमल नयन दास ने कहा- मंदिर निर्माण जल्द शुरू होगा। संतों की मांग है कि प्रधानमंत्री जल्द यहां आकर निर्माण शुरू कराएं। वे पहले ही आने वाले थे पर कोरोना संकट से कार्यक्रम टल गया। अब पीएम 3 या 5 अगस्त को यहां आ सकते हैं। हालांकि, अंतिम तारीख तय होना बाकी है।

अंसारी बोले- मोदी का स्वागत करना चाहता हूं

रामलला मंदिर के प्रधान पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा- ट्रस्ट की बैठक में पीएम का कार्यक्रम तय किया जाए, जिससे मंदिर का निर्माण जल्द शुरू हो सके। दूसरी ओर, बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने कहा- मैं प्रधानमंत्री का अयोध्या में स्वागत करना चाहता हूं। मंदिर निर्माण को लेकर जो संत समाज चाहता है, वही मैं भी चाहता हूं। मोदी मंदिर निर्माण का शुभारंभ करें। अंसारी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मस्जिद के लिए जो 5 एकड़ भूमि मुस्लिम समाज को दी गई है, उस पर एक अस्पताल और एक स्कूल का निर्माण किया जाए।

डाॅ. कृष्ण गोपाल अयोध्या पहुंचे

गुरुवार रात आरएसएस के सह सर कार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल अयोध्या पहुंचे। शुक्रवार को वह मंदिर निर्माण से जुड़े संतों और विश्व हिंदू परिषद के नेताओं, मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों से मिले। कारसेवकपुरम में मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों के साथ बैठक की। शनिवार की बैठक के एजेंडे को फाइनल किया गया। गोपाल का अचानक मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष, मंदिर सुरक्षा सलाहकार और ट्रस्ट सदस्यों के मंदिर निर्माण पर मंथन में शामिल होना अहम माना जा रहा है।

राम मंदिर के साथ राष्ट्र मंदिर बनेगा

ट्रस्ट की बैठक में शामिल होने पहुंचे सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा- पीएम के द्वारा अगर मंदिर के गर्भगृह का पूजन और मंदिर निर्माण का शुभारंभ होता है तो यह सबसे अच्छा है। शिलापूजन सिंहद्वार के शिलान्यास के साथ हो चुका है। अब गर्भगृह का पूजन होना है। कोरोना को देखते हुए ट्रस्ट ने इसके भूमिपूजन कार्यक्रम को टाल दिया था। देश के सामने जो संकट है सबसे पहले उसका मुकाबला करना है। चौपाल ने कहा कि राम मंदिर के साथ राष्ट्र मंदिर भी बनेगा, जिसका शुभारंभ मोदी करेंगे।

Next Story
Share it
Top