Top
undefined

दुनिया को पसंद है पीएम मोदी की बिंदास छवि, भारतीयों के हैं चहेते

पीएम मोदी ने देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में एक अलग छवि बनाई है। पूरी दुनिया में उनके करोड़ों फैंस हैं। दुनिया के बड़े देश उन्‍हें पूरी तवज्‍जो देते हैं।

दुनिया को पसंद है पीएम मोदी की बिंदास छवि, भारतीयों के हैं चहेते
X

नई दिल्‍ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 70वां जन्‍मदिन है। पीएम मोदी ने पूरी दुनिया में जो अपनी निडर और बिंदास छवि बनाई है उसकी आज दुनिया तारीफ करती है। बात चाहे कोविड-19 से चुनौतीपूर्ण तरीके से लड़ने की हो या सीमा पर दुश्‍मन को जवाब देने की, हर मौके पर उन्‍होंने खुद को सफल साबित किया है। यही वजह है कि देश के सवा सौ करोड़ लोगों के वो चहेते पीएम हैं। उनसे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ था कि किसी पीएम ने कुछ कहा हो और उसको करोड़ों लोगों ने पूरी ईमानदारी से किया हो। कोविड-19 की शुरुआत में पीएम मोदी ने जब एक दिन का कर्फ्यू लगाने और लोगों से थाली बजाने की अपील की थी तब आसमान थाली, तालियों और घंटियों की आवाज से गूंज उठा था। इसके बाद उनके कहने पर लोगों ने कोरोना योद्धाओं के लिए अपने घरों में दीप जलाए थे। इसी वर्ष मार्च में जब उन्‍होंने सोशल मीडिया से संन्‍यास लेने की बात कही थी तब लोगों ने उनसे ऐसा न करने की अपील की थी। इसके बाद उन्‍होंने कहा कि वो सोशल मीडिया से फिलहाल संन्यास नहीं ले रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि वह इस अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर अपना ट्विटर अकाउंट उन महिलाओं को समर्पित करेंगे, जिनसे वो प्रेरित हुए हैं और ऐसा उन्‍होंने किया भी। 23 अगस्‍त 2020 को उन्‍होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्‍ट किया था जिसमें वो मोर के साथ दिखाई दे रहे थे। इसके बाद उनका पशु प्रेम भी दुनिया ने देखा था। इससे पहले नवंबर 2016 में एक शेर की फोटो क्लिक करने की उनकी फोटो भी काफी वायरल हुई थी। आपको बता दें कि 2014, 2015 और 2017 में उन्हें टाइम पत्रिका ने अपनी सौ सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया था। फोर्ब्स पत्रिका ने 2015, 2016 और 2018 में उन्हें विश्व में 9वें सबसे शक्तिशाली व्यक्ति के रूप में स्थान दिया था। वर्ष 2015 में वह ट्विटर और फेसबक पर दूसरे सबसे अधिक फॉलो किए जाने वाले राजनेता रहे। सर्वाधिक देशों से सर्वोच्च सम्मान पाने वाले वह देश के इकलौते प्रधानमंत्री हैं। अपनी अलग कार्यशैली के दम पर देश को नई दिशा देने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के वडनगर में हुआ था। अपने व्‍यस्‍त कार्यक्रम के बावजूद भी पीएम मोदी अपने जन्‍मदिन पर अपनी मां से आशीर्वाद लेना नहीं भूलते हैं। कई बार उनकी मां को पांव छूते हुए फोटो मीडिया में आई भी है। उन्‍होंने पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पिता तुल्‍य बताया था। प्रणब दा के चरण स्‍पर्श करते हुए की फोटो भी दुनिया ने देखी थी। उनके इस जन्‍मदिन पर आज हम आपको उनके अलग-अलग रूप के बारे में बताएंगे। पीएम मोदी ने सर्जिकल स्‍ट्राइक और फिर बालाकोट एयरस्‍ट्राइक के जरिए पाकिस्‍तान को उसकी ही भाषा में करारा जवाब दिया। इसके बाद सभी ने कहा 'मोदी है तो मुमकिन है'। इसके अलावा उन्‍होंने रेडियो से 'मन की बात' की शुरुआत की। 'मन की बात' में हर बार उन्‍होंने देश के विभिन्‍न भागों में रह रहे उन लोगों का जिक्र किया, जिन्‍हें कोई पहचान नहीं मिल सकी थी। इससे न सिर्फ उनका हौसला बढ़ा ,बल्कि यह दूसरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बना।

Next Story
Share it
Top