Top
undefined

दिल्ली बॉर्डर पर एक्टिव खुफिया एजेंसियां, रख रही हर हलचल की जानकारी

केंद्र सरकार की ओर से लागू किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले कई महीनों से सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार के जरिए हाल ही में लागू किए गए कृषि से जुड़े कानूनों को वापस लिया जाए।

दिल्ली बॉर्डर पर एक्टिव खुफिया एजेंसियां, रख रही हर हलचल की जानकारी
X

नई दिल्ली: किसानों की ओर से देश में कृषि कानूनों के खिलाफ लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है। दिल्ली बॉर्डर पर पिछले कई दिनों से किसान जमे हुए हैं और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। वहीं किसानों के प्रदर्शन पर निगरानी के लिए खुफिया एजेंसियां भी एक्टिव हैं। खुफिया एजेंसियां दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की हर हलचल पर पैनी नजर बनाए हुए है। केंद्र सरकार की ओर से लागू किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले कई महीनों से सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार के जरिए हाल ही में लागू किए गए कृषि से जुड़े कानूनों को वापस लिया जाए। वहीं अब ये विरोध प्रदर्शन काफी बड़ा रूप ले चुका है और किसान पिछले कई दिनों से दिल्ली बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर खुफिया एजेंसियां भी एक्टिव हैं और आंदोलन के दौरान हो रहे हर प्रकार की हलचल पर नजर रखे हुए है।

बिना वर्दी में तैनात

रिपोर्ट्स के मुताबिक सिंघु बॉर्डर पर हरियाणा सीआईडी, इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) और दिल्ली स्पेशल ब्रांच के लोग बिना वर्दी में तैनात किए गए हैं। ये कर्मचारी काफी एक्टिव हैं और हर पल की जानकारी इक_ा कर रहे हैं। वहीं इनकी जानकारी के मुताबिक ही सुरक्षाबलों में इजाफा किया जा रहा है। साथ ही शक होने पर लोगों पर कार्रवाई भी की जा रही है।

हटने को तैयार नहीं किसान

सिंघु बॉर्डर पर तैनात एक अधिकारी का कहना है कि बॉर्डर पर बैठे लोग कानून वापस लेने तक हटने को तैयार नहीं है। यहां सुबह करीब 30 हजार लोगों की भीड़ होती है। रात में भी हजारों की संख्या में लोग रहते हैं। हर दिन नए लोग प्रदर्शन में शामिल हो रहे हैं। वहीं जिन लोगों पर किसी प्रकार का शक होता है तो उनसे पूछताछ भी की जाती है और उन्हें पकड़ा भी जाता है।

Next Story
Share it