Top
undefined

वायुसेना दिवस की परेड में पहली बार राफेल भी शामिल हुआ, 19 हेलिकॉप्टर समेत 56 एयरक्राफ्ट करतब दिखाएंगे

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, चीफ ऑफ नेवल स्टाफ करमबीर सिंह कार्यक्रम में शामिल हैं।

नई दिल्ली, इंडियन एयरफोर्स डे की 88वीं परेड उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर जारी है। इसमें पहली बार राफेल जेट भी शामिल हुआ है। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, चीफ ऑफ नेवल स्टाफ करमबीर सिंह कार्यक्रम में शामिल हैं। एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया ने परेड का जायजा लिया।

दूसरे लड़ाकू विमानों ने भी करतब दिखाए

भदौरिया ने कहा, "उत्तरी सीमा पर मौजूदा विवाद के बीच हमारे एयर वॉरियर्स ने जो जोरदार तेजी दिखाई। हमने कम समय में लड़ाकू एसेट्स तैनात किए और आर्मी की सभी जरूरतों को देखते हुए सपोर्ट दिया। भारतीय वायुसेना ट्रांसफॉर्मेशनल बदलाव के दौर में है। हम एक ऐसे दौर में जा रहे हैं, जिसमें नए सिरे से वायुसेना की ताकत का इस्तेमाल होगा और इंटीग्रेटेड मल्टी-डोमेन ऑपरेशंस चलाए जाएंगे।" "यह साल असाधारण है। दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के बीच हमारे देश का रेस्पॉन्स मजबूत रहा। हमारे एयर वॉरियर्स के संकल्प को देखते हुए यह तय है कि वायुसेना मौजूदा दौर में पूरी क्षमता के साथ काम करती रहेगी। मैं देश को भरोसा देना चाहता हूं कि वायुसेना हर हाल में देश की सुरक्षा के लिए तैयार रहेगी।"

परेड में कुल 56 एयरक्राफ्ट शामिल

इंडियन एयरफोर्स की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी। इसलिए, हर साल 8 अक्टूबर को एयरफोर्स डे मनाया जाता है। इस दिन देश के अलग-अलग हिस्सों में एयरफोर्स की तरफ से कई कार्यक्रम और परेड आयोजित की जाती हैं। इस बार मुख्य परेड में कुल 56 एयरक्राफ्ट हिस्सा ले रहे हैं। इनमें 19 हेलिकॉप्टर और 7 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट भी शामिल हैं। फ्लाइ पास्ट में राफेल के अलावा, लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस, जगुआर, मिग-29, मिग-21, सुखोई-30 भी शामिल हैं। इंडियन एयरफोर्स के मुताबिक, राफेल 4.5 जनरेशन का फाइटर जेट है। इसकी खूबियों में ट्विन-इंजन ओम्नीरोल, एयर सुप्रीमेसी, इंटरडिक्शन, एरियल रिकोनाइसेंस, ग्राउंड सपोर्ट, इन डीप स्ट्राइक, एंटी शिप न्यूक्लियर डिटरेंस शामिल हैं। इसके जरिए कई तरह के हथियारों से दुश्मनों पर हमला किया जा सकता है।

29 जुलाई को भारत आए थे 5 राफेल

2 इंजन वाले राफेल फाइटर जेट में 2 पायलट बैठ सकते हैं। यह जेट एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है।इसी साल 29 जुलाई को फ्रांस से 5 राफेल जेट भारत आए थे। इसे 10 सितंबर को इंडियन एयरफोर्स के बेड़े में शामिल किया गया था। अभी भारत को 36 राफेल विमान मिलने हैं, जिनमें 18 अंबाला और 18 बंगाल के हासीमारा एयरबेस पर रखे जाएंगे। हासीमारा एयरबेस चीन और भूटान सीमा के करीब है।

नई दिल्ली, इंडियन एयरफोर्स डे की 88वीं परेड उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर जारी है। इसमें पहली बार राफेल जेट भी शामिल हुआ है। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, चीफ ऑफ नेवल स्टाफ करमबीर सिंह कार्यक्रम में शामिल हैं। एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया ने परेड का जायजा लिया।

दूसरे लड़ाकू विमानों ने भी करतब दिखाए

भदौरिया ने कहा, "उत्तरी सीमा पर मौजूदा विवाद के बीच हमारे एयर वॉरियर्स ने जो जोरदार तेजी दिखाई। हमने कम समय में लड़ाकू एसेट्स तैनात किए और आर्मी की सभी जरूरतों को देखते हुए सपोर्ट दिया। भारतीय वायुसेना ट्रांसफॉर्मेशनल बदलाव के दौर में है। हम एक ऐसे दौर में जा रहे हैं, जिसमें नए सिरे से वायुसेना की ताकत का इस्तेमाल होगा और इंटीग्रेटेड मल्टी-डोमेन ऑपरेशंस चलाए जाएंगे।" "यह साल असाधारण है। दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के बीच हमारे देश का रेस्पॉन्स मजबूत रहा। हमारे एयर वॉरियर्स के संकल्प को देखते हुए यह तय है कि वायुसेना मौजूदा दौर में पूरी क्षमता के साथ काम करती रहेगी। मैं देश को भरोसा देना चाहता हूं कि वायुसेना हर हाल में देश की सुरक्षा के लिए तैयार रहेगी।"

परेड में कुल 56 एयरक्राफ्ट शामिल

इंडियन एयरफोर्स की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी। इसलिए, हर साल 8 अक्टूबर को एयरफोर्स डे मनाया जाता है। इस दिन देश के अलग-अलग हिस्सों में एयरफोर्स की तरफ से कई कार्यक्रम और परेड आयोजित की जाती हैं। इस बार मुख्य परेड में कुल 56 एयरक्राफ्ट हिस्सा ले रहे हैं। इनमें 19 हेलिकॉप्टर और 7 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट भी शामिल हैं। फ्लाइ पास्ट में राफेल के अलावा, लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस, जगुआर, मिग-29, मिग-21, सुखोई-30 भी शामिल हैं। इंडियन एयरफोर्स के मुताबिक, राफेल 4.5 जनरेशन का फाइटर जेट है। इसकी खूबियों में ट्विन-इंजन ओम्नीरोल, एयर सुप्रीमेसी, इंटरडिक्शन, एरियल रिकोनाइसेंस, ग्राउंड सपोर्ट, इन डीप स्ट्राइक, एंटी शिप न्यूक्लियर डिटरेंस शामिल हैं। इसके जरिए कई तरह के हथियारों से दुश्मनों पर हमला किया जा सकता है।

29 जुलाई को भारत आए थे 5 राफेल

2 इंजन वाले राफेल फाइटर जेट में 2 पायलट बैठ सकते हैं। यह जेट एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है।इसी साल 29 जुलाई को फ्रांस से 5 राफेल जेट भारत आए थे। इसे 10 सितंबर को इंडियन एयरफोर्स के बेड़े में शामिल किया गया था। अभी भारत को 36 राफेल विमान मिलने हैं, जिनमें 18 अंबाला और 18 बंगाल के हासीमारा एयरबेस पर रखे जाएंगे। हासीमारा एयरबेस चीन और भूटान सीमा के करीब है।

Next Story
Share it
Top