Top
undefined

प्रधानमंत्री ने मणिपुर वॉटर सप्लाई प्रोजेक्ट की नींव रखी, 3054 करोड़ के प्रोजेक्ट से 2.80 लाख घरों को नल कनेक्शन देने का लक्ष्य

जल जीवन मिशन के जरिए 2024 तक ग्रामीण इलाकों के हर घर तक पानी पहुंचाने का लक्ष्य

प्रधानमंत्री ने मणिपुर वॉटर सप्लाई प्रोजेक्ट की नींव रखी, 3054 करोड़ के प्रोजेक्ट से 2.80 लाख घरों को नल कनेक्शन देने का लक्ष्य
X

इम्फाल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेे गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मणिपुर वाॅटर सप्लाई प्रोजेक्ट की नींव (फाउंडेशन स्टोन) रखी। इस अवसर पर मोदी ने कहा- कोरोना के खिलाफ हमें मजबूती से लड़ते रहना है, विजयी होना है। इसके साथ ही विकास के कार्यों को भी पूरी ताकत से आगे बढ़ाना है। केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए जल जीवन मिशन के तहत फंड दिया है। इस प्रोजेक्ट पर 3,054.58 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। नींव रखने के प्रोग्राम में मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला, मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह, उनके कैबिनेट मंत्री, सांसद और विधायक भी शामिल हुए।

दोहरी चुनौती

प्रोजेक्ट की शुरुआत करते हुए मोदी ने भाषण में कहा, "पूर्वी और उत्तर-पूर्वी भारत को दोहरी चुनौतियों से निपटना पड़ रहा है। भारी बारिश से काफी नुकसान हो रहा है। अनेक लोगों की मृत्यु हुई है। कई को घर छोड़ने पड़े हैं। सभी परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। पूरा देश आपके साथ खड़ा है। भारत सरकार सभी राज्य सरकारों के साथ मिलकर जरूरतें पूरी करने की लगातार कोशिश कर रहा है।"

कोरोना संकट का जिक्र

प्रधानमंत्री ने कोरोना से निपटने में राज्य सरकार की तारीफ की। कहा, "मणिपुर में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए राज्य सरकार दिन रात जुटी हुई है। लॉकडाउन में लोगों को वापस लाने समेत राज्य सरकार ने हर जरूरी कदम उठाए। संकट के इस समय गरीबों की इसी तरह मदद करनी है। आज इम्फाल समेत मणिपुर के लाखों साथियों के लिए विशेषकर बहनों के लिए बहुत बड़ा दिन है। राखी का त्योहार आने वाला है, उससे पहले मणिपुर की बहनों को ये बहुत बड़ी सौगात की शुरुआत होगी। 3000 करोड़ की लागत से पूरे होने वाले वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट से यहां के लोगों को पानी की दिक्कतें कम होंगी।"

दो दशक से ज्यादा की जरूरत का ध्यान रखा

प्रधानमंत्री ने कहा, "1700 से ज्यादा गांवों के लिए इस प्रोजेक्ट से जो जलधारा निकलेगी, वो जीवनधारा का काम करेगी। ये प्रोजेक्ट आज ही नहीं बल्कि अगले 20-22 साल की जरूरतों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। इससे लाखों लोगों को पीने का साफ पानी मिलेगा और हजारों लोगों रोजगार भी मिलेगा। शुद्ध पानी से इम्युनिटी को ताकत मिलती है। नल से पानी आएगा इतना विषय नहीं है। इस प्रोजेक्ट से हर घर जल के मिशन को भी बल मिलेगा। मणिपुर के लोगों विशेषकर माता बहनों को बहुत बधाई देता हूं।"

लॉकडाउन में भी जारी रहा काम

मोदी ने आगे कहा, "पिछले साल देश में जब जल जीवन मिशन की शुरूआत हो रही थी तब मैंने कहा था कि हमें पिछली सरकारों से तेजी से काम करना है। जब 15 करोड़ घरों में तेजी से पाइप से पानी पहुंचाना हो तो रुक नहीं सकते। इसीलिए लॉकडाउन में भी गांव-गांव में पाइप लाइन बिछाने का काम जारी रहा। देश में करीब 1 लाख पानी कनेक्शन रोज दिए जा रहे हैं। लोगों का जीवन आसान बना रहे हैं। ये तेजी इसलिए संभव हो पा रही है क्योंकि जल जीवन मिशन एक जन आंदोलन के रूप में आगे बढ़ रहा है।"

मणिपुर वाॅटर सप्लाई प्रोजक्ट क्या है?

ग्रेटर इम्फाल प्लानिंग एरिया के घरों, 25 कस्बों और मणिपुर के 16 जिलों के 1,731 गांवों के 2,80,756 घरों तक नल कनेक्शन पहुंचाने के लिए यह प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। केंद्र और राज्य सरकार मिलकर इसका खर्च उठाएंगी। केंद्र ने 1,185 गांवों के 1,42,749 घरों तक कनेक्शन पहुंचाने के लिए फंड दिया है। 2024 तक 'हर घर जल' के लक्ष्य को हासिल करने के लिए ये एक अहम प्रोजेक्ट है।

Next Story
Share it
Top