Top
undefined

गुजरात-महाराष्ट्र में 6-6 और राजस्थान में 2 नए पॉजिटिव मिले

महाराष्ट्र से दूसरे प्रदेशों के मजदूर पलायन कर रहे, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा- यहीं रहें, हम ख्याल रखेंगे

गुजरात-महाराष्ट्र में 6-6 और राजस्थान में 2 नए पॉजिटिव मिले
X

नई दिल्ली. कोरोनावायरस संक्रमण के गुजरात और महाराष्ट्र में आज 6-6 और राजस्थान में 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। देश में अब तक कुल 900 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 791 संक्रमित अभी अस्पताल में हैं और 76 ठीक हो चुके हैं। सरकार के आंकड़ों में अभी संक्रमितों की संख्या 775 है। 78 ठीक हो चुके हैं। शुक्रवार तक इस बीमारी से 22 लोगों की मौत हो चुकी है। एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा 151 मामले शुक्रवार को ही सामने आए, 3 लोगों की मौत हुई और 25 लोग ठीक हुए। इससे पहले 23 मार्च को एक दिन में 102 लोग संक्रमित हुए थे।

राज्यों के हाल

मध्यप्रदेश; कुल संक्रमित- 29: जबलपुर में दो और लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट शुक्रवार को पॉजिटिव आई। दोनों नए मरीज पहले से संक्रमित सराफा व्यापारी के यहां काम करते हैं। अब जबलपुर में 8, इंदौर में 15, भोपाल में 3, शिवपुरी में 2, ग्वालियर में एक पॉजिटिव हैं।

राजस्थान; कुल संक्रमित- 52: शनिवार को अजमेर में 23 साल का युवक संक्रमित मिला है। वह हाल ही में पंजाब से लौटा था। 21 साल की एक युवती भीलवाड़ा में संक्रमित पाई गई है। भीलवाड़ा के कलेक्टर आर भट्‌ट का कहना है कि जरूरत पड़ी तो हम 15 हजार लोगों को क्वारैंटाइन करने की व्यवस्था करने को तैयार हैं।

उत्तरप्रदेश; कुल संक्रमित- 49: राज्य में सबसे ज्यादा 9 संक्रमित आगरा में हैं। इसके बाद 8 केस लखनऊ में सामने आए हैं। लॉकडाउन के बाद गाजियाबाद में बाहरी मजदूरों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें अपने राज्यों घर तक पहुचंने के लिए वाहन नहीं मिल रहे।

महाराष्ट्र; कुल संक्रमित- 162: नवी मुंबई इलाके में शुक्रवार को एक बच्चा कोरोना संक्रमित पाया गया। शुक्रवार को पॉजिटिव मिले 29 मरीजों में से 15 केवल सांगली के थे। सांगली के मरीज पहले पॉजिटिव पाए गए लोगों के संपर्क में आए थे।

छत्तीसगढ़; कुल संक्रमित- 6: इनमें से 5 मामले बुधवार से गुरुवार के बीच सामने आए। इस बीच, राज्य के कृषि मंत्री रवींद्र चौबे का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान किसानों को मंडी से खाली वाहन लेकर लौटने पर परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निर्देश दिया है कि किसानों को किसी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए।

बिहार; कुल संक्रमित- 9: राज्य में शुक्रवार को दो संक्रमित पाए गए। इनमें से एक सिवान का रहने वाला है, जो हाल ही में दुबई से लौटा था। दूसरा नालंदा का है वह भी विदेश से आया था। इसके साथ ही राज्य में अब तक संक्रमण के नौ मामले सामने आए हैं। इनमें से छह लोगों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। यानी, इन लोगों ने देश में या देश से बाहर कहीं यात्रा नहीं की है।

आंध्रप्रदेश; कुल संक्रमित-13: आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम और गुंटूर में शुक्रवार को 2 पॉजिटिव मिले। दोनों कोरोना संक्रमित लोगों के संपर्क में आए थे। इससे पहले एक और संक्रमित मिला था, वह 17 मार्च को ब्रिटेन से लौटे एक व्यक्ति के संपर्क में आया था।

दिल्ली; कुल संक्रमित- 40: दिल्ली में अभी तक सिर्फ एक मौत हुई है। जबकि छह लोग ठीक हुए हैं। वहीं, लॉकडाउन के बाद शहर से मजदूरों का पलायन नहीं थम रहा। उन्हें तमाम मुश्किलों का भी सामना करना पड़ रहा है। न खाने को खाना है, न पीने को पानी।

दिल्ली में प्रदूषण में जबर्दस्त कमी

लॉकडाउन के बीच दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काफी कम हो गया है। यहां अक्सर धुंध छाई रहती है, लेकिन शुक्रवार को आसमान नीला नजर आया। प्रदूषण स्तर में भी जबर्दस्त सुधार हुआ है। शुक्रवार को यहां पीएम 2.5 का स्तर 20 रहा, वहीं प्रदूषण का स्तर 69 था। यह दिसंबर के आसपास 500 तक पहुंच गया था।

उद्धव की अपील- लोग पलायन न करें, महाराष्ट्र में हम उनका ख्याल रखेंगे

कोरोनावायरस के चलते लॉकडाउन के बाद दिहाड़ी मजदूर अपने राज्यों को लौट रहे हैं। कई जगह इन्हें सैकड़ों किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी पड़ रही है, तो कहीं पुलिस इन्हें रोक रही है। मुंबई से इस तरह मजदूरों के पलायन पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा- मैं लोगों से अपील करता हूं कि यहीं रहें। हम उनका ध्यान रखेंगे। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्‌ठी लिखकर दूसरे प्रदेशों के मजदूरों की दुर्दशा पर चिंता जताई है। सोनिया ने कहा है कि इन मजदूरों के लिए सावर्जनिक वाहनों की व्यवस्था की जाए, ताकि वे सुरक्षित अपने गांवों तक पहुंच सकें। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट स्थगित कर दी गई है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। नीट के जरिए ही देशभर के एम्स समेत सभी चिकित्सा संस्थानों और मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स के लिए दाखिला मिलता है।

Next Story
Share it
Top