Top
undefined

कांग्रेस के करीब 70 विधायक राज्यपाल से मिले, बेंगलुरु से विधायकों को मुक्त कराने की मांग की

कांग्रेस ने बेंगलुरु में मौजूद बागी विधायकों को भोपाल लाने के लिए राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा मंगलवार को स्पीकर प्रजापति ने राज्यपाल को पत्र लिखकर बेंगलुरु में विधायकों को लाने की बात कही थी

कांग्रेस के करीब 70 विधायक राज्यपाल से मिले, बेंगलुरु से विधायकों को मुक्त कराने की मांग की
X

भोपाल, मध्यप्रदेश में सियासी उठापटक के बीच बुधवार को कांग्रेस के करीब 70 विधायक राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने राजभवन पहुंचे। कांग्रेस ने बेंगलुरु में मौजूद बागी विधायकों को भोपाल लाने के लिए राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। इससे पहले मंगलवार शाम को विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने राज्यपाल को पत्र लिखा था। इसमें भी उन्होंने बेंगलुरु से विधायकों को वापस लाने की अपील की थी। राज्यपाल को सौंपे गए कांग्रेस के ज्ञापन में कहा गया, ''बेंगलुरु में भाजपा ने कांग्रेस के 16 विधायकों को बंधक बनाकर रखा है। इन्हें मुक्त कराने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ भी आपसे निवेदन कर चुके हैं। बुधवार को बेंगलुरु में दिग्विजय सिंह समेत कुछ विधायक पहुंचे। वे वहां राज्यसभा उम्मीदवार होने के नाते बातचीत करना चाहते थे। यह दिग्विजय सिंह का अधिकार भी है, लेकिन पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने उन्हें विधायकों से मिलने नहीं दिया। सभी कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। कांग्रेस के सभी विधायक आपसे मांग करते हैं कि बेंगलुरु में बंधक सभी 16 साथियों को मुक्त कराया जाए।''

गृह मंत्री ने कहा- 107 भाजपा विधायक सुरक्षित हैं, तो 16 क्यूं नहीं सुरक्षित रहेंगे

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार ने बेंगलुरु में ठहरे विधायकों के भोपाल आने पर पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं। इसके बावजूद वे जहां से चाहें, सुरक्षा ले सकते हैं। सरकार को आपत्ति नहीं है। वहीं, प्रियव्रत सिंह ने कहा- जब 107 भाजपा के विधायक मध्यप्रदेश की धरती पर सुरक्षित हैं, तो ये 16 विधायक सुरक्षित क्यों नहीं रहेंगे?

होटल से राजभवन पहुंचे, वापस होटल आए विधायक

इससे पहले होटल मैरिएट से विधायक दो बसों में बैठकर राजभवन पहुंचे। कांग्रेस विधायक पिछले 4 दिन से मैरिएट होटल में हैं। कांग्रेस और भाजपा दोनों खेमे की नजर अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिकी है। होटल से बाहर निकलने के दौरान कांग्रेस विधायकों ने बातचीत में कहा कि बेंगलुरु में विधायकों को बंधक बनाकर रखा हुआ है। वे जब भी यहां आएंगे, हमारे साथ ही खड़े नजर आएंगे।

Next Story
Share it
Top