Top
undefined

200 टीमें और बनाकर सभी 26 लाख की स्क्रीनिंग करेंगे

आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की टीमें बढ़ाई गई हैं, गुरुवार देर रात तक साढ़े पांच लाख लोगों की जांच करने का दावा

200 टीमें और बनाकर सभी 26 लाख की स्क्रीनिंग करेंगे
X

इंदौर. इंदौर में कोरोना संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। गुरुवार को यहां 256 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से 244 इंदौर के ही हैं। 3 देवास और एक मंदसौर का रहने वाला है। 8 अन्य मरीज भी अन्य राज्यों के हैं। स्क्रीनिंग में पीछे रहे इंदौर में प्रशासन अब पूरी ताकत इस काम में झोंकेगा। आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की टीमें बढ़ाकर गुरुवार देर रात तक साढ़े पांच लाख लोगों की जांच करने का दावा किया गया। कलेक्टर मनीष सिंह ने तीन-चार दिन में कंटेनमेंट एरिया की करीब 12 लाख आबादी की स्क्रीनिंग पूरी करने को कहा है। यहां प्रति 10 लाख की आबादी पर 2 हजार सैंपल जांच रहे हैं, जो देश में सर्वाधिक है। एपिसेंटर, कंटेनमेंट एरिया और बफर जोन के अलावा पूरे शहर के 26 लाख लोगों की जांच करने की योजना बनाई है। वहीं केंद्र सरकार की 4 सदस्यीय टीम एपिसेंटर एरिया रानीपुरा, टाटपट्‌टी बाखल पहुंची। कहा कि सभी काम प्रोटोकॉल से हो रहा है। मध्य प्रदेश में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1299 हो गई है। इनमें से 842 मामले अकेले इंदौर में हैं। यानी राज्य के 65% कोरोना पॉजिटिव मरीज अभी इसी शहर में हैं। भोपाल में 196 लोग संक्रमित हैं।

अब कुल 4121 बेड, यलो अस्पताल की भी तीन श्रेणी

प्रशासन ने पूर्व में चिन्हित रेड, यलो, ग्रीन अस्पताल को अब नई कैटेगरी में चिन्हित कर दिया है। इससे कुल 4121 बैड की व्यवस्था हो गई। कोविड अस्पताल (रेड)- इसमें गंभीर मरीज, 60 साल से अधिक वाले पॉजिटिव मरीज होंगे। इसमें एमआर टीबी, एमटीएच, अरबिंदो, चोइथराम, इंडेक्स हैं। कोविड स्वास्थ्य केंद्र (रेड कम यलो)- इसमें संक्रमित व्यक्ति, मध्यम गंभीर व्यक्ति को रखेंगे। गोकुलदास, मयूर, सुयश, इंडेक्स की एक विंग, सिनर्जी, अरिहंत, विशेष, प्रशांति व गेटवेल (महू), इंदौर चेस्ट सेंटर एमवायएच, कर्मचारी बीमा निगम व शेल्बी शामिल हैं।

परिवार के सदस्यों के सैंपल लिए

एक हफ्ते के अंदर सराफा बाजार के 5 व्यापारियों की अचानक मौत होने से सराफी कारोबारी सहमे में हैं। इनमें जिन दो सगे भाइयों की कोरोना से जान गई, उनके परिवार के सभी सदस्यों की प्रशासन ने स्क्रीनिंग और सैंपलिंग करवाई है। इसके अलावा जिस व्यापारी ने गुरुवार को दम तोड़ा, उसके पूरे घर को सैनिटाइज किया गया। सराफा के कुछ व्यापारियों ने बताया कि पिछले दिनों अचानक दोनों सगे भाइयों की तबीयत बिगड़ी थी। उन्हें चोइथराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दोनों ने दम तोड़ दिया। वहीं तीसरी व्यापारी की भी अचानक तबीयत बिगड़ी। उनकी गुरुवार रात मौत हो गई। इंदौर चांदी सोना जवाहरात एसोसिएशन के मंत्री अविनाश शास्त्री ने बताया कि हफ्तेभर में ही सराफा के पांच व्यापारियों की मौत से व्यापारी सदमे में हैं। तीनों व्यापारियों की अभी रिपोर्ट आनी बाकी है।

कैंसर से बेटे की इंदौर में मौत, रतलाम में मां ने वीडियो कॉल पर किए अंतिम दर्शन

रतलाम के बनकटलाल पोरवाल के कैंसर पीड़ित 13 साल के बेटे सुमित की इंदौर के अस्पताल में मौत हो गई। लॉकडाउन के चलते शव ले जाने की अनुमति नहीं मिली। इंदौर में ही अंतिम संस्कार करना पड़ा। पिता ने मां को वीडियो कॉल के जरिये बेटे के अंतिम दर्शन करवाए।

पुलिस ने घेरा तो बोला- मेरे बच्चों को कोरोना के बारे में मत बताना, वे मर जाएंगे

इंदौर के किंग्स पार्क गार्डन से भागे पॉजिटिव युवकों में से एक युवक ने पुलिस से गुहार लगाई थी कि मुझे कोरोना है, ये बात मेरे बच्चों को मत बताना, नहीं तो वे मर जाएंगे। इस पर सीएसपी गहलोत ने आधा घंटा काउंसलिंग की। तब वे आइसोलेशन में चलने को राजी हुए। ये घटना बुधवार रात की थी। इसी बीच, गुरुवार रात चार और युवक मुरैना में पकड़ाए। तीन को पुलिस ने बुधवार रात पकड़ लिया था। एक अब भी फरार है। ये युवक बायपास पर ट्रक से लिफ्ट लेकर मुरैना चले गए थे। पकड़ाए युवक अब्दुल सलाम, रईस आलम, तस्वीर अमर हुसैन, मुंशी रफीक खान हैं। ये सभी उप्र के हैं। लॉकडाउन के कारण खाने-पीने को मोहताज एक 40 वर्षीय व्यक्ति महाराष्ट्र के चालीसगांव से पैदल ही इंदौर स्थित अपने घर आ गया। दो दिन पैदल चलने के बाद जब घर पहुंचा तो संक्रमण के डर से परिजनों ने अंदर नहीं आने दिया। अब पुलिस ने क्वारेंटाइन हाउस में रुकवाया है। विजेंद्र सिंह (40) पिता विमल नैयर निवासी प्रकाश चंद सेठी नगर ने बताया कि वह दो माह पहले काम के सिलसिले में चालीसगांव गया था। वहां वह बस बाॅडी निर्माण का काम करता था। कारखाना बंद हो जाने से रहने-खाने की व्यवस्था नहीं हो रही। इसलिए पैदल ही इंदौर के लिए निकल पड़ा।

Next Story
Share it
Top