Top
undefined

CBSE 10th रिजल्ट, 118 दिन बाद आए बोर्ड के नतीजों में लड़कियां फिर आगे, 91.46% बच्चे पास, 0.36% अच्छा रहा रिजल्ट

CBSE 10th रिजल्ट, 118 दिन बाद आए बोर्ड के नतीजों में लड़कियां फिर आगे, 91.46% बच्चे पास, 0.36% अच्छा रहा रिजल्ट
X

नई दिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) की 10वीं क्लास का रिजल्ट जारी हो गया है। इस बार का नतीजा पिछले साल की तुलना में सिर्फ 0.36% बढ़ा है और कुल 91.46% बच्चे पास हुए हैं। 2018 के बाद से लगातार तीसरे साल लड़कियों का पास पर्सेंट लड़कों से 3.17% ज्यादा है। इस तरह लड़कियों ने अपनी टॉप पोजिशन की हैट्रिक बना ली है।

118 दिन के इंतजार के बाद रिजल्ट

कोरोना से प्रभावित और बाद में रद्द हुई परीक्षा के लिए इस बार बोर्ड ने बिना मेरिट लिस्ट यानी टॉपर्स के नाम के बिना रिजल्ट जारी किया है। पिछले साल 6 मई को रिजल्ट आ गया था, लेकिन इस साल नतीजे पूरे 70 दिन लेट आया है और 19 मार्च को खत्म हुई परीक्षा के नतीजें कुल 118 दिन बाद आए हैं। स्टूडेंट्स बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट cbseresults.nic.in पर रिजल्ट देख सकते हैं। इसके अलावा बोर्ड ने उमंग ऐप, SMS और IVRS से भी रिजल्ट देखने की सुविधा दी है।

2020 के रिजल्ट की 4 बड़ी बातें

1. 16 रीजन में से त्रिवेंद्रम रीजन ने 99.28% रिजल्ट के साथ टॉप किया है, गुवाहाटी रीजन 79.12% के साथ सबसे नीचे है।

2. लड़कियों ने लगातार तीसरे साल लड़कों से बाजी मारी है। लड़कियों का पास पर्सेंट 93.31 रहा, जबकि लड़कों का 90.14% रहा। इस तरह लड़कियां 3.17% आगे रहीं। पिछले साल की तुलना में लड़कियां का प्रदर्शन 0.9% सुधरा है, लड़कों का जस का तस 90.14% है।

3. रिजल्ट में 99.23% के साथ केंद्रीय विद्यालय नंबर 1 पर हैं जबकि 98.66% के साथ जवाहर नवोदय दूसरे नंबर पर हैं।

4. साल 2020 में कुल 1 लाख 84 हजार 358 बच्चों को 90% से ऊपर और 41 हजार 804 बच्चों को 95% से ऊपर नंबर मिले हैं। दोनों ही कैटेगरी में ये आंकड़ा पिछले साल से कम है।

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री निशंक ने ट्वीट कर जानकारी दी कि बोर्ड ने रिजल्ट अनाउंस कर दिए हैं और उन्हें http://www.cbseresults.nic.in/ पर देखा जा सकता है। लेकिन, रिजल्ट आने के ढाई घंटे बाद तक वेबसाइट बार-बार क्रैश हुई और लिंक नजर न आने की भी शिकायतें आईं। इसके बाद बोर्ड की ओर से कहा गया कि बच्चों को उनके स्कूल, उनके खुद के मोबाइल पर SMS और डिजीलॉकर भी रिजल्ट भेजा जा रहा है।

CBSE की ऑफिशियल साइट cbseresults.nic.in पर रिजल्ट के लिंक।

1. वेबसाइट पर ऐसे देखें रिजल्ट

सबसे पहले CBSE की ऑफिशियल साइट cbseresults.nic.in पर जाएं।

यहां होम पेज पर कक्षा 10वीं CBSE रिजल्ट 2020 लिंक पर क्लिक करें।

अब एक नया पेज खुलने पर उम्मीदवारों को लॉगइन करना होगा।

लॉगइन करते ही आपका रिजल्ट स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा।

रिजल्ट देखने के बाद इसे डाउनलोड कर हार्ड कॉपी रखें।

2. उमंग ऐप पर देखें रिजल्ट

उमंग ऐप एंड्रॉइड और iOS दोनों पर उपलब्ध है। स्टूडेंट्स को पहले ऐप डाउनलोड करना होगा और फिर ओपन करके होम स्क्रीन पर दिख रहे मार्क शीट टैब पर क्लिक करना होगा। रिजल्ट देखने के लिए स्टूडेंट्स को अपना रोल नंबर और डेट ऑफ बर्थ दर्ज करनी होगी।

3. IVRS के जरिए भी देख सकते हैं रिजल्ट

जिन स्टूडेंट्स के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं है, उनके लिए CBSE ने इंटरेक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम (IVRS) की व्यवस्था की है। दिल्ली के स्टूडेंट्स के लिए नंबर है 24300699 और देशभर के बाकी बच्चे 011-24300699 पर कॉल करके अपना रिजल्ट पता कर सकते हैं।

4. SMS पर ऐसे मोबाइल में ऐसे पाएं रिजल्ट

स्टूडेंट्स अपने रिजल्ट SMS के जरिए भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए स्टूडेंट्स को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 7738299899 पर एसएमएस भेजना होगा। इस तरीके से भेजें SMS मैसेज में लिखें रोल नंबर + एडमिट कार्ड आईडी और इसे 7738299899 पर भेज दें।

जारी नहीं होगी मेरिट लिस्ट

इस बार बोर्ड कोरोना लॉकडाउन के कारण पैदा हुए परिस्थितियाें के चलते बाकी एग्जाम नहीं करा पाया है। ऐसे में CISCE बोर्ड की तर्ज पर CBSE 12वीं के बाद अब 10वीं का रिजल्ट भी बिना मेरिट लिस्ट और टॉपर्स की लिस्ट के जारी करेगा।

डिजीलॉकर से मिलेगी मार्कशीट

इस साल स्टूडेंट्स को डिजीलॉकर के जरिए डिजिटल मार्कशीट दी जाएगी। डिजीलॉकर से मार्कशीट डाउनलोड करने के लिए इसे digilocker.gov.in से डाउनलोड करना होगा। बोर्ड की तरफ से स्टूडेंट्स को डिजीलॉकर क्रेडेंशियल्स एसएमसएस के जरिए दिए हैं। इसका इस्तेमाल कर वे अपनी मार्कशीट डाउनलोड कर सकते हैं।

19 मार्च को स्थगित हुई थी परीक्षा

इस बार 10वीं- 12वीं की परीक्षाएं एक साथ 15 फरवरी से शुरू हुईं थी। इस साल 10वीं में करीब 18 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। हालांकि, कोरोना के चलते 10वीं की परीक्षाएं 19 मार्च को स्थगित कर दी गईं थी। उस समय 10वीं की चार विषयों की परीक्षाएं होना बाकी थी। वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली के करीब 86 स्कूलों में 10वीं की परीक्षाएं 26 फरवरी से ही स्थगित कर दी गई थी। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बची परीक्षाएं रद्द कर दी गईं।

असेसमेंट स्कीम के आधार पर रिजल्ट

स्टूडेंट्स को उनके बेस्ट परफॉर्मिंग सब्जेक्ट्स में मिले मार्क्स के आधार पर उन बचे हुए विषयों के नंबर दिए जाएंगे, जिनकी परीक्षाएं नहीं हो पाई हैं। अगर तीन से ज्यादा पेपर दे चुके हैं, तो इनमें से ही तीन बेस्ट परफॉर्मिंग सब्जेक्ट के एवरेज मार्क्स के आधार पर उन्हें उन विषयों के नंबर दिए जाएंगे, जिनके पेपर वे नहीं दे पाए हैं। और तीन ही सब्जेक्ट की परीक्षा दी है, तो स्टूडेंट्स को उनके दो बेस्ट परफॉर्मिंग सब्जेक्ट के एवरेज मार्क्स के आधार पर बचे हुए पेपर के नंबर दिए जाएंगे।

Next Story
Share it
Top