Top
undefined

राज्यपाल जगदीप धनखड़ बोले, ममता प्रचार में व्यस्त, पश्चिम बंगाल में पालन नहीं किया लॉकडाउन, कोरोना वायरस से बनी स्थिति तीसरे विश्व युद्ध की तरह

पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने कहा कि राज्य की ममता बनर्जी सरकार का केंद्र सरकार के साथ टकराव है और वो राज्य में कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए जरूरी कदम नहीं ले रही हैं.

राज्यपाल जगदीप धनखड़ बोले, ममता प्रचार में व्यस्त, पश्चिम बंगाल में पालन नहीं किया लॉकडाउन, कोरोना वायरस से बनी स्थिति तीसरे विश्व युद्ध की तरह
X


नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने आज राज्य के बारे में कई अहम बातों पर जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि राज्य और केंद्र सरकार में टकराव की स्थिति बिलकुल स्पष्ट है और राज्य सरकार गरीबों को राशन नहीं दे रही है. राज्य सरकार सिर्फ प्रचार में जुटी है और कोरोना से लड़ाई ड्रामेबाजी के जरिए जीती नहीं जा सकती है.

जगदीप धनखड़ ने कहा कि कोरोना वायरस से बनी स्थिति तीसरे विश्व युद्ध की तरह हैं लेकिन राज्य सरकार इसे लेकर भी गंभीर नहीं है और केंद्र के साथ मिलकर काम करने की जगह अपने अहम की संतुष्टि पर ज्यादा ध्यान दे रही है.

हालांकि उन्होंने कहा कि लोगों में केंद्र सरकार के काम को लेकर संतुष्टि है लेकिन राज्य सरकार के एक्शन से लोग बिलकुल खुश नहीं हैं. राज्य की जनता केंद्र सरकार के साथ है, वो लॉकडाउन का पालन करना चाहती है. राज्य में पीडीएस घोटाला हुआ है और राज्य सरकार के दिए आंकड़ों पर किसी को भरोसा नहीं हो रहा है. केंद्र सरकार ने जो मदद देशभर के किसानों तक पहुंचाई है वो राज्य के किसानों तक नहीं पहुंच पा रही है.

जगदीप धनखड़ ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन का पालन सख्ती से नहीं हो रहा है और धर्म विशेष के लिए धार्मिक कार्यक्रम के आयोजनों के ऊपर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है जो बेहद चिंताजनक स्थिति है. वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से जब आधिकारिक तौर पर पूछा गया कि तब्लीगी जमात के लोगों की राज्य में मौजूदगी को लेकर उन्होंने कोई जानकारी क्यों नहीं साझा की तो उन्होंने ये ही कहा कि सांप्रदायिक सवाल ना पूछे जाएं.

जगदीप धनखड़ ने कहा कि किसानों के हितों से समझौता न करें और उनके सामने इस समय आजीविका का संकट है लेकिन मुख्यमंत्री की सोच अति विचित्र है और वो चाहती हैं कि राज्य सरकार का हर चीज पर नियंत्रण रहे. वो केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम नहीं करना चाहती हैं.

राज्य के गवर्नर ने कहा कि पब्लिक रिलेशन के आधार पर कोरोना वायरस को हराया नहीं जा सकता है और राज्य सरकार इस बात को समझ नहीं रही है. राज्य में बड़े-बड़े विज्ञापन दिए जा रहे हैं कि कितना काम स्टेट में हुआ है लेकिन ये सच्चाई है कि जितना काम राज्य सरकार की तरफ से किया जाना चाहिए था वो अभी तक नहीं हुए हैं.

जगदीप धनखड़ ने इस बात की भी जानकारी दी कि जब उन्होंने खाद्य मंत्री रामविलास पासवान से पूछा कि आप पश्चिम बंगाल को चावल की आपूर्ति क्यों नहीं कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से सप्लाई को लेकर कोई परेशानी नहीं है लेकिन राज्य की सरकार खुद इसमें रोड़े अटका रही है.

Next Story
Share it
Top