Top
undefined

भारत पढ़े ऑनलाइन अभियान की हुई शुरुआत, एचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा

अभियान का उद्देश्य भारत में डिजिटल शिक्षा के लिए उपलब्ध प्लेटफार्म को और बढ़ावा देना और इसे उत्कृष्ट बनाने का सुझाव लेना है.

भारत पढ़े ऑनलाइन अभियान की हुई शुरुआत, एचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा
X

नई दिल्ली। घर बैठे बच्चों में डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा देने और देश में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को अधिक उत्कृष्ट बनाने के लिए के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने भारत पढ़े ऑनलाइन अभियान की शुरुआत की है.

इस अभियान का उद्देश्य भारत में डिजिटल शिक्षा के लिए उपलब्ध प्लेटफार्म को और बढ़ावा देना तथा देशभर के बुद्धिमान लोगों से इसको और उत्कृष्ट बनाने एवं इसमें आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए सुझाव लेना है.

सभी सुझाव सीधे सीधे मानव संसाधन विकास मंत्रालय एवं मानव संसाधन विकास मंत्री के साथ साझा किये जायेंगे. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने इसके अभियान के बारे में बताया.

उन्होंने कहा, ''इस अभियान के तहत स्कूल में अथवा उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों को जोड़ा जायेगा क्योंकि वो ही हैं जो सबसे ज्यादा विभिन्न विषयों को पढ़ाने वाले डिजिटल शिक्षा प्लेटफॉर्मों से लगातार जुड़े रहते हैं. वो ये बात मंत्रालय या मंत्री जी से सीधे तौर पर बता सकते हैं कि इन प्लेटफॉर्मों में क्या कमी है और इनको कैसे दूर किया जा सकता है.''

निशंक ने कहा, ''इसके अलावा शिक्षकों को भी इस अभियान से जोड़ा जायेगा ताकि वो आगे आकर अपने अनुभव एवं विशेषज्ञता द्वारा ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को और बेहतर बनाने अपना योगदान दें. शिक्षकों के साथ संवाद कर के उनसे इस बारे में सुझाव लिए जायेंगे कि भारत में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली किस तरह की होनी चाहिए. इसके अलावा उनसे यह भी सुझाव लिए जायेंगे कि अभी इसमें क्या क्या कमियां है और पारम्परिक क्लासरूम की पढाई में उन्हें क्या क्या कठिनाई आती है जिसको वो ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली द्वारा दूर कर सकते हैं,''

उन्होंने बताया कि सभी अपने अपने सुझाव एवं विचार सोशल मीडिया जैसे कि ट्वीटर, फेसबुक एवं इंस्टाग्राम पर साझा कर सकते हैं इसके अलावा मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर भी साझा कर सकते हैं.

सभी अपने अपने सुझाव एवं विचार ट्वीटर और मायगव की वेबसाइट के द्वारा साझा कर सकते हैं. इस अभियान का प्रचार सोशल मीडिया जैसे कि ट्वीटर, फेसबुक एवं इंस्टाग्राम के साथ साथ मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट के द्वारा होगा. इसके अलावा मंत्रालय गूगल एड और यूट्यूब एड के द्वारा भी इसका प्रचार करेगी.

इस अभियान के पहले चरण में सभी सुझाव ट्विटर और मायगव वेबसाइट के द्वारा लिए जायेंगे उसके बाद दूसरे चरण में टॉप 10 सुझाव देने वालों को मंत्रालय की तरफ से या तो ईमेल जायेगा या उनके ट्विटर अकाउंट पर मैसेज भेजा जायेगा जिसमें उनको एक गूगल फॉर्म दिया जायेगा जिसमें उन्हें अपने सुझावों को विस्तार से ब्यौरा देंगे.

इस अभियान को सफल बनाने के लिए सोशल मीडिया की एक टीम, एनसीईआरटी के प्रोफेसर, एनसीईआरटी के प्रोफेसरों, मायगव की टीम और मंत्रालय के साथ मिलकर काम करने वाले युवाओं और मंत्रालय के अधिकारीयों को लगाया जायेगा.

यह अभियान आज से ही शुरू हो जायेगा. आज से लेकर 16 अप्रैल 2020 तक इस अभियान का पहला चरण चलेगा जिसके बाद 18 अप्रैल 2020 को पहले चरण के विजेताओं के नाम बताये जायेंगे. 19 से लेकर 24 अप्रैल तक दूसरा चरण चलेगा और 28 अप्रैल को विजेताओं के नाम बताये जायेंगे

Next Story
Share it
Top