Top
undefined

प्रसव के दौरान नहीं होगी कोई परेशानी बस नियम से करें ये तीन आसन

योग की मदद से प्रसव के समय होने वाली परेशानियों से भी काफी हद तक बचा जा सकता है। तो चलिए जानें कौन से योगासन का अभ्यास गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद है।

प्रसव के दौरान नहीं होगी कोई परेशानी बस नियम से करें ये तीन आसन
X

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को बहुत सारी परेशानियों से होकर गुजरना पड़ता है। इन सारी स्वास्थ्य की समस्याओं से बचने के लिए योग का अभ्यास फायदेमंद हो सकता है। योग की मदद से प्रसव के समय होने वाली परेशानियों से भी काफी हद तक बचा जा सकता है। तो चलिए जानें कौन से योगासन का अभ्यास गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद है।

पर्यांकासन

इस आसन को गर्भवती महिलाएं शुरुआती महीने में कर सकती हैं। पर्यांकासन एक बेहद ही सरल आसन है। इस आसन को करने केे लिए सबसे पहले दरी या चटाई बिछा लें। अब दरी पर आप पीठ के बल लेट जाएं और अपने दोनों पैरों को सीधा रखें। ध्यान रहें कि आपके घुटने एक साथ ही होने चाहिए। अब आप अपने दोनों घुटनों को मोड़ें और कोशिश करें कि आपके पैर के पंजे आपकी जांघ को छू पाएं। अब इस अवस्था में थोड़ी देर रहें। लेकिन ध्यान रहें कि अपनी क्षमता अनुसार ही इस आसन को करें। पर्यांकासन को करने से जांघ और पेट की समस्या कम होती है। यही नहीं इसके अतिरिक्त इस आसन को करने से मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं। अगर आप इस आसन को नियमित रुप से करेंगी तो प्रसव के समय आपको तकलीफ कम होगी। लेकिन यह आसन आप किसी की देख रेख में ही करें तो बेहतर होगा।

भद्रासन

भ्रदासन को गर्भवती महिला आसानी से कर सकती हैं। भद्रासन को बटरफ्लाई पोज भी कहा जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह आसन की मुद्रा तितली जैसी होती है। इस आसन को करने के लिए जमीन पर बैठ जाएं और अपने पैरों को नमस्ते की अवस्था में रख लें। इस अवस्था में आपकी पीठ बिल्कुल सीधी रहनी चाहिए । अब अपने घुटनों को फैला लें और अपने हाथों से पंजे पकड़ने की कोशिश करें। करीब 2-5 मिनट तक आप इस अवस्था में रह सकते हैं। इस आसन को करने से पेट की मासंपेशिया में कसाव आने लगता है। यस्तिकासन गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद है। इस आसन को करने के लिए जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं। अब अपने पैरों को एक-दूसरे के साथ चिपका कर रखें। अब सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को उठाकर सर की तरफ रख लें। इस आसन को आप 3-4 बार थोड़ी देर रुक कर-कर सकते हैं। यस्तिकासन करने से शरीर का आकार सही बना रहता है। इसके अतिरिक्त यस्तिकासन करने से तनाव भी कम होता है।

Next Story
Share it
Top