Top
undefined

क्यों है हिंदू धर्म में है नथ पहनने की परंपरा, जो इन दिनों फैशन ट्रेंड का बन रहीं हिस्सा

क्यों है हिंदू धर्म में है नथ पहनने की परंपरा, जो इन दिनों फैशन ट्रेंड का बन रहीं हिस्सा
X

नाक में नथ और पैरों में बिछिया देखकर ही लोग किसी महिला के विवाहित होने का अंदाजा लगा लेते हैं, लेकिन बदलते समय के साथ यह फैशन का एक ट्रेंड बनता जा रहा है। आज कुंवारी लड़कियां भी नाक में नथ और पैरों में स्टाइलिश दिखने वाली बिछिया पहन रही हैं। भले ही ये दो चीजें आज फैशन एक्सेसरीज में शामिल हो गई हों, लेकिन इन्हें पहनने का आज भी हिंदू धर्म में खासा महत्व है। तो आइए सबसे पहले आपको ये बताएं कि नथ पहनने के पीछे क्या परंपरा रही है और आज के समय में नथ का स्टाइल इतना क्यों बदल गया।

इसलिए पहनती है महिलाएं नाक में नथ

ये बात किसी से छिपी नहीं है कि हिन्दू धर्म में विवाहित महिलाओं के सोलह श्रृंगार का कितना महत्व है। माथे की बिंदी से लेकर पांव की बिछिया और नाक की नथ से लेकर चूड़ियां तक सोलह श्रृंगार का एक हिस्सा है। ऐसे में नाक में नथ पहनने की एक परंपरा यह भी रही है कि ऐसा करने से महिलाओं के सुहागिन होने का पता चलता है। यही नहीं, हिंदू समाज में पहले नाक उन्हीं महिलाओं की छेदी जाती थी, जो विवाहित होती थीं।

इतना ही नहीं, उत्तर भारत में हर शुभ काम पर नथ पहनने का रिवाज है। नथ को सुहाग की निशानी माना जाता है इसलिए इसका महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है।

नथ से डायमंड नोज पिन का फैशन...

सबसे पहले रिंग वाली नथ पहनी जाती थी, जो देखते ही देखते फैशन का ट्रेंड बन गई। हालांकि, रिंग नोज पिन आज भी फैशन में है और इसे पहनने में बॉलीवुड एक्ट्रेस भी पीछे नहीं हैं। यही नहीं, नोज पिन कॉलेज जाने वाली लड़कियों के लिए आज के समय में एक फैशन एक्ससेरीज बन गई है, जिसे वह हर मौके पर पहनना पसंद करती हैं। स्वास्तिक, बर्ड, फ्लावर के अलावा कई कलात्मक डिज़ाइन इन दिनों मार्किट में मौजूद हैं, जिन्हें पहनकर आप भी अपने स्टाइल का परचम लहरा सकती हैं।

Next Story
Share it
Top