Top
undefined

नए शोध का खुलासा, रोज़ाना कॉफी पीने से कम हो सकता है लिवर कैंसर का जोखिम

अगर एक कप कॉफी पीता है, तो 20 प्रतिशत लिवर कैंसर का खतरा

नए शोध का खुलासा, रोज़ाना कॉफी पीने से कम हो सकता है लिवर कैंसर का जोखिम
X

नई दिल्ली। कॉफी को सेहत के लिए कभी भी सही नहीं माना गया है। इसके बावजूद दुनियाभर में लोग कॉफी पीने से गुरेज नहीं करते हैं। इसकी खपत बहुत अधिक है। कुछ लोगों के दिन की शुरुआत कॉफी से ही होती है। आमतौर पर दिनभर में दो कप कॉफी पीने से कोई नुकसान नहीं होता है। इसमें कैफीन पाया जाता है, जिससे ह्रदय दर, रक्त चाप और कब्ज का खतरा बढ़ जाता है। हालांकि, कॉफी कई रोगों में फायदेमंद भी होती है। इस बात की पुष्टि एक शोध से होती है, जिसमें बताया गया है कि कॉफी पीने से लिवर कैंसर का खतरा कम हो जाता है। विश्व कैंसर अनुसंधान कोष के अनुसार, 2012 में लगभग 800,000 लोग कैंसर से पीड़ित थे।

BMJ Open journal में छपी एक लेख के अनुसार, कॉफी पीने वाले लोगों को लिवर कैंसर का खतरा कम रहता है। इस शोध में 26 शोधों के 20 लाख लोगों के परिणामों पर गहन अध्ययन किया गया है। इसमें पाया गया कि जो व्यक्ति नियमित रूप से कॉफी पीता है। उसे लिवर कैंसर का जोखिम कम रहता है। हालांकि, यह खपत पर निर्भर है कि व्यक्ति दिन में कितने कप कॉफी पीता है।

अगर एक कप कॉफी पीता है, तो 20 प्रतिशत लिवर कैंसर का खतरा कम हो जाता है। वहीं, दो कप पीने से 35 प्रतिशत खतरा कम हो जाता है। जबकि एक दिन में 5 कप कॉफी पीने से 50 फीसदी तक लिवर कैंसर का खतरा कम जाता है।

कॉफी लिवर को कैसे मदद करती है

इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-कैंसरजनक के गुण पाए जाते हैं। ये सभी गुण लिवर कैंसर के खतरे को कम करने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसीलिए शोध में कॉफी को लिवर कैंसर से बचने के लिए दवा समान माना गया है। हालांकि, इसमें कैफीन पाया जाता है। ऐसे में दिनभर में केवल दो कप कॉफी पीनी चाहिए। इससे 35 प्रतिशत तक लिवर कैंसर का खतरा कम हो सकता है।

Next Story
Share it