Top
undefined

डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण दवा हैं सूरजमुखी के बीज, ऐसे करें सेवन

डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण दवा हैं सूरजमुखी के बीज, ऐसे करें सेवन
X

नई दिल्ली। सूरजमुखी एक वानस्पतिक पौधा है। इसकी खेती भारत समेत अमेरिका, रूस और यूरोप के कई देशों में की जाती है। इसे अंग्रेजी में सनफ्लॉवर कहा जाता है। आमतौर पर सभी फूल सूर्य की तरफ झुकते हैं, लेकिन सूरजमुखी अधिक झुका रहता है। इस वजह से इसका नाम सूर्यमुखी या सूरजमुखी पड़ा है। इसके बीज से तेल तैयार किया जाता है। जबकि बीज का सेवन किया जाता है। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। खासकर डायबिटीज यानी मधुमेह के मरीज के लिए सूरजमुखी के बीज रामबाण दवा है। कई शोध में खुलासा हो चुका है कि डायबिटीज के मरीजों को सूरजमुखी के बीज का सेवन करना चाहिए। इससे ब्लड शुगर कंट्रोल होता है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और अपना ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करना अथवा रखना चाहते हैं, तो सूरजमुखी के बीज का सेवन जरूर करें। आइए जानते हैं कि कैसे सूरजमुखी के बीज डायबिटीज में फायदेमंद होता है-

एक शोध के अनुसार, सूर्यमुखी न केवल डायबिटीज बल्कि गुड कोलेस्ट्रॉल के लिए भी कारगर साबित होता है। इससे गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट्स, मिनरल्स, विटामिन्स और पोषक तत्व पाए जाते हैं। साथ ही सूरजमुखी के बीज को ऊर्जा का मुख्य स्त्रोत माना जाता है। डाइट चार्ट के अनुसार, 100 ग्राम सूरजमुखी के बीज में 584 कैलोरीज पाई जाती है। इसके लिए डॉक्टर्स डायबिटीज के मरीजों को सूर्यमुखी के बीज खाने की सलाह देते हैं। कई विशेषज्ञ सूरजमुखी को डायबिटीज के लिए रामबाण दवा बताते हैं।

jocpr.com पर छपी एक शोध के अनुसार, ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए सूरजमुखी प्राकृतिक उपचार है। सूरजमुखी के एक बीज में 3 ग्राम फाइबर और 5 ग्राम प्रोटीन पाए जाते हैं। कम मात्रा में सूरजमुखी के बीज का सेवन भी लाभदायक होता है। इसके लिए आप सूरजमुखी के बीज को सलाद में जोड़ सकते हैं। साथ ही आप ओट्स और दलिया में डालकर भी सेवन कर सकते हैं। इसके बीज को भूनकर आप स्नैक रूप में भी खा सकते हैं। इसके सेवन से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Next Story
Share it
Top