Top
undefined

फ्लोर टेस्ट से पहले दिल्ली में बैठक, शिवराज सिंह पार्टी विधायकों से मिलने गुड़गांव पहुंचे

फ्लोर टेस्ट से पहले दिल्ली में बैठक, शिवराज सिंह पार्टी विधायकों से मिलने गुड़गांव पहुंचे
X

भोपाल/नई दिल्ली. मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले भाजपा और कांग्रेस तैयारियों में जुटी हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ को 16 मार्च यानी सोमवार को विधानसभा में बहुमत साबित करना है। इससे पहले रविवार को जयपुर में ठहरे कांग्रेस के 85 विधायकों के भोपाल पहुंचने पर सियासी हलचल और तेज हो गई। दिल्ली में भाजपा नेताओं के बीच बैठकों का दौर जारी है। सुबह केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के आवास पर ज्योतिरादित्य सिंधिया, शिवराज सिंह और धर्मेंद्र प्रधान ने फ्लोर टेस्ट की रणनीति पर चर्चा की। इसके बाद चारों नेता सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता से मिलने पहुंचे।

उधर, शिवराज सिंह 105 भाजपा विधायकों से मिलने गुड़गांव के आईटीसी ग्रैंड होटल भी गए। सूत्रों के मुताबिक, भाजपा इन विधायकों को रविवार रात तक भोपाल ला सकती है। वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया के भोपाल लौटने पर रविवार रात या सोमवार सुबह बेंगलुरु के रिसॉर्ट में ठहरे उनके खेमे के 22 विधायक भोपाल पहुंच सकते हैं। यह भी कहा जा रहा है कि विधायकों को फ्लोर टेस्ट के लिए बेंगलुरु से सीधे विधानसभा लाया जा सकता है। सिंधिया समर्थक विधायकों ने भोपाल आने से पहले जान को खतरा बताते हुए सीआरपीएफ से सुरक्षा मांगी है। दूसरी ओर, भाजपा ने फ्लोर टेस्ट से पहले अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी किया है।

हमारे विधायक एक घंटे में ही भोपाल आ जाएंगे: नरोत्तम

पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा शाम तक बहुत सारे बादल जा चुके होंगे और वह सभी बातों पर तैयार हो जाएंगे। राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष दोनों संवैधानिक पद पर बैठे हुए हैं। दोनों सही निर्णय लेंगे। हमारे विधायक पास में ही हैं, एक घंटे में आ जाएंगे, प्रतीक्षा करिए। सिंधिया भाजपा नेता हैं और उनके समर्थक भी उनके साथ हैं।'' अन्य विधायकों के इस्तीफे और विधानसभा अध्यक्ष की कार्रवाई पर मिश्रा ने कहा कि 24 घंटे में सब कुछ सामने आ जाएगा। कांग्रेस चाहे तो सुप्रीम कोर्ट चली जाए। उनके मंत्रियों के प्रति मेरी संवेदना है, अब तो चला चली की बेला है।

Next Story
Share it