Top
undefined

भोपाल में रमज़ान की तैयारी शुरू : सेहरी-इफ्तारी के लिए खजूर और शरबत का रहेगा इंतज़ाम

मसाजिद कमेटी ने अपील में कहा कि घरों में ही नमाज अदा करें। सरकार के आदेश का पालन करें। किसी एक घर में पड़ोसी जमा ना हों जिन मस्जिद और घरों में हाफिजों का इंतजाम हो वह लोग मुकम्मल कुरान पाक सुन सकते हैं। वरना अलम तरा कैफया से तरावीह पढ़ लें। कमेटी ने यह भी कहा कि 10 मिनट पहले सहरई खत्म करें।

भोपाल में रमज़ान की तैयारी शुरू : सेहरी-इफ्तारी के लिए खजूर और शरबत का रहेगा इंतज़ाम
X

भोपाल। रमज़ान का पाक महीना शुरू होने वाला है। ये पहला मौका है जब देश-दुनिया मेें लॉक डाउन है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए घर से बाहर निकलने पर पाबंदी है। ऐसे हालात में नमाज और सेहरी-इफ्तारी की व्यवस्था करना एक चुनौती है। मसाजिद कमेटी ने मुसलमान भाइयों से अपील की है कि वो घर पर रहकर ही तरावीह पढ़ें। उधर प्रशासन सेहरी और इफ्तारी की व्यवस्था कर रहा है। खजूर और शरबत की सप्लाई में कोई दिक्कत ना आए, इसके निर्देश दे दिए गए हैं। मसाजिद कमेटी ने अपील में कहा कि घरों में ही नमाज अदा करें। सरकार के आदेश का पालन करें। किसी एक घर में पड़ोसी जमा ना हों जिन मस्जिद और घरों में हाफिजों का इंतजाम हो वह लोग मुकम्मल कुरान पाक सुन सकते हैं। वरना अलम तरा कैफया से तरावीह पढ़ लें। कमेटी ने यह भी कहा कि 10 मिनट पहले सहरई खत्म करें।

जुमे की नमाज में घरों में अदा करने की अपील

मसाजिद कमेटी ने ये भी अपील लोगों से की है कि जुम्मे के दिन तमाम मस्जिदों में नमाजे जुम्मे में सिर्फ चार-पांच लोग पढ़ें। बाकी हजरात घरों में ही जोहर की नमाज अदा करें। लॉक डाउन में लोग सरकार की तरफ से जारी पाबंदी का पूरा ध्यान रखें।रमजान का चांद 24 या 25 अप्रैल को दिखने की संभावना है। शहर काजी मुश्ताक अली नदवी ने भी लोगों से अपील की है कि वर्तमान में चल रही व्यवस्था के अनुसार मस्जिदों में नमाज अदा की जाए। इस सिलसिले में पिछले दिनों हुई बैठक में उलेमाओं ने ऐलान किया है कि लोग अपने घरों में ही रमजान की नमाज अदा करें।

खजूर-शरबत का इंतज़ाम

भोपाल और देश के इतिहास में शायद यह पहला मौका है जब मस्जिद की बजाय लोग घरों में नमाज अदा करेंगे।इफ्तारी- सेहरी में दिक्कत ना हो इसके सरकारी तौर पर भी इंतज़ाम किए जा रहे हैं। प्रशासन ने रोजेदारों के लिए तमाम व्यवस्था करना शुरू कर दी है। बाजार में खजूर शरबत सहित दूसरी सामग्री रोजेदारों तक पहुंचाने के लिए कलेक्टर ने आला अधिकारियों के निर्देश दिए हैं। साथ ही जन सहयोग से गरीबों तक इफ्तार सेहरी के लिए खाद्य सामग्री पहुंचाने की भी व्यवस्था की जा रही है। किराना दुकान खोलने की छूट पहले से ही है। इसके अलावा खाद्य सामग्री खजूर ड्राई फ्रूट फल शरबत समेत दूसरा सामान मध्य प्रदेश के अलावा दूसरे राज्यों से आने पर भी छूट है। रमजान के दौरान किसी भी सामान की कोई दिक्कत नहीं आए, इसे लेकर प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है।

दान करें गेहूं या आटा

मसाजिद कमेटी ने रमज़ान के दौरान दान करने की अपील की है। इसमें कहा गया है कि हर रोज़ेदार और सभी लोग प्रतिव्यक्ति 1किलो 633 ग्राम आटा दान करें।या इसकी कीमत के तौर पर 50 रुपए जान करें।

Next Story
Share it