Top
undefined

असंगठित क्षेत्र कामगारों एवं मजदूरों के लिए नहीं है विशेष व्यवस्थाएं

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव व इससे प्रभावित लोगों के लिए राज्य सरकार करे विशेष व्यवस्थाएं

असंगठित क्षेत्र कामगारों एवं मजदूरों के लिए नहीं है विशेष व्यवस्थाएं
X

भोपाल, कोरोना ने देश के साथ ही प्रदेश में भी अपनी दस्तक दे दी है और सभी जगह एक आपातकालीन परिस्थिति निर्मित हो गयी है, खासकर दैनिक मजदूरी पर निर्भर रहने वाले विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत असंठित मजदूरों की आजीविका पर गंभीर विपरीत प्रभाव पड़ा है। आजीविका के इस संकट से कई परिवारों के जीवन निर्वहन के समक्ष एक गंभीर चुनौती है और संकट के इस समय में सभी लोगों का अपने घरों तक सिमित रहना हम सभी के लिए आवश्यक भी है । ऐसी स्थिति में इस प्रदेश के कमजोर वर्ग एवं जरूरतमंद जनता को सरकार से अपेक्षा है कि चुनौती के इस समय में वह जनता की जरूरतों का ध्यान रखें। उक्त मांग जन स्वच्छता अभियान एमपी की तरफ से अमूल्य निधी एसआर आजाद और राकेश चांदौरे ने मीडिया के माध्यम से की है।

जिम्मेदारों को लिखे गए पत्र

जन स्वास्थ्य अभियान ने मध्यप्रदेश के कार्यवाहक मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव एवं राज्यपाल, को पत्र लिखकर प्रदेश की जरूरतमंद जनता के लिए कम से कम दो से तीन माह का राशन, आवश्यक जीवनोपयोगी वस्तुएं, तथा मुफ्त ईलाज व जरुरतमंदो को अग्रिम पेंशन का भुगतान तथा इन कर्मियों हेतु आवश्यकतानुसार मुफ्त यात्रा की व्यवस्था राज्य सरकार करने की मांग की है।

निजी अस्पतालों को करें अधिसूचित

जन स्वास्थ्य अभियान ने मांग करते हुए कहा है कि जैसे की स्पेन ने कोरोना से निपटने के लिए सभी निजी अस्पतालों को शासकीय अधिसूचित किया है वैसे ही मध्यप्रदेश को भी सभी निजी अस्पतालों को शासकीय अधिसूचित कर कोरोना वायरस के संक्रमितों की मुफ्त जाँच व ईलाज की सुविधा देने हेतु निर्देशित करे। इसी से स्वास्थ्य का अधिकार की दिशा तय होगी सरकार स्वास्थ्य सेवा मजबूत होगी।

मिलकर करेंगे संघर्ष

जन स्वास्थ्य अभियान एमपी ने अपील करते हुए कहा है कि संकट के इस समय में जनता को स्वास्थ्य सेवाएं को प्रदान करने के लिए प्रदेश के डॉक्टर्स, नर्स, पेरा मेडिकल स्टाफ एवं अन्य लोग एक मजबुत इरादे से अपने जिम्मेदारियों के निर्वहन कर रहे हैं, इन सभी अधिकारियों कर्मचारियों की सुरक्षा के आवश्यक सभी उपकरण, सामान पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो, ताकि समाज के सभी लोग मिलकर कोरोना के खिलाफ अपना संघर्ष कर सके।

Next Story
Share it