Top
undefined

ट्रकों की आवाजाही रोकने पर भड़के एमपी के मुख्य सचिव, फौरन दी हिदायत

सीएस बैंस ने लिखा-लिखा कि-'दोहराया जा रहा है कि किसी भी ट्रक को सीमा पर नहीं रोका जाना चाहिए,उन्हें मध्य प्रदेश के भीतर या बाहर अपने गंतव्य तक पहुंचने दिया जाए। ट्रकों को रोकने से चीजों की गंभीर कमी हो रही है।

ट्रकों की आवाजाही रोकने पर भड़के एमपी के मुख्य सचिव, फौरन दी  हिदायत
X

भोपाल. कोरोना वायरस से बचाव के लिए चल रहे लॉक डाउन के बीच सीमा पर ट्रकों की आवाजाही रोक दी गयी। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को जब ये भनक लगी तो वो भड़क गए। उन्होंने फौरन पूरे प्रदेश के कलेक्टर्स और एसपी को हिदायत दी कि बेवजह ट्रकों को ना रोका जाए। उन्हें आसानी से एक से दूसरे शहर आने-जाने दिया जाए। ट्रकों के लिए लॉक डाउन का पास होने की ज़रूरत नहीं है। ट्रकों को अगर रोका गया तो ज़रूरी चीजों की सप्लाई में दिक्कत पैदा हो जाएगी। लॉक डाउन होते ही पूरे देश में एतहियातन कई कदम उठाए जा रहे हैं। इसी के बीच एमपी के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस को खबर मिली कि प्रदेश में कई जगह सीमा पर ट्रकों की आवाजाही रोक दी गयी है। उन्हें शहर में घुसने नहीं दिया जा रहा। ट्रकों को रोके जाने से मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस भड़क उठे। उन्होंने तत्काल पूरे प्रदेश के कलेक्टर्स और एसपी को सख्त निर्देश दिए कि ट्रकों को रोका नहीं जाए। उन्हें आने-जाने दिया जाए। मुख्य सचिव ने कलेक्टर्स और एसपी को पत्र भेजकर कहा-'मेरे बार-बार निर्देश के बावजूद ट्रकों को सीमा पर रोका जा रहा है। इस दौरान यह भी कहा जा रहा है कि वे आवश्यक वस्तुएं नहीं हैं। ये स्पष्ट किया जा रहा है कि किसी भी ट्रक को रोका नही जाए। उन्होंने आगे लिखा कि-'दोहराया जा रहा है कि किसी भी ट्रक को सीमा पर नहीं रोका जाना चाहिए,उन्हें मध्य प्रदेश के भीतर या बाहर अपने गंतव्य तक पहुंचने दिया जाए। ट्रकों को रोकने से चीजों की गंभीर कमी हो रही है। लॉक डाउन में ट्रकों के आने जाने के लिए किसी तरह के पास की ज़रूरत नहीं है और न ही उनसे पास की मांग की जाएगी'।

सीएम की घोषणा पर अमल की हिदायच

मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस ने कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि बुधवार को कलेक्टर्स-एसपी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जो आदेश सीएम ने दिए हैं, उसका पूरा ध्यान रखा जाए। हर निर्देश का पालन हो.इन पर कोताही नहीं बर्दाश्त की जाएगी. लॉक डाउन के दौरान अपनाए जाने वाले निर्देशों का पालन किया जाए। ज़रूरत मंदों तक पेंशन, ज़रूरी सामान, दवाएं वक्त पर पहुंचा दी जाएं. कोरोना वायरस पीड़ित लोगों को समय पर और निशुल्क इलाज किया जाए।

Next Story
Share it