Top
undefined

कोरोना के ख़तरे के बीच फील्ड में हैं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सरकार ने सौंपी ये बड़ी ज़िम्मेदारी

देशभर में कोरोना लॉकडाउन के बावजूद मास्क के सहारे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विदेश से लौटे लोगों के घर-घर जाकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ले रही हैं। हमारे प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अगले 14 दिनों तक रोजाना ऐसे ही जनसंपर्क करेंगी।

कोरोना के ख़तरे के बीच फील्ड में हैं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सरकार ने सौंपी ये बड़ी ज़िम्मेदारी
X

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है, ऐसे में स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी इस वक्त ड्यूटी पर हैं। 1 मार्च से 21 मार्च तक विदेश से एमपी लौटने वाले लोगों की सूची तैयार की गई है। इस लिस्ट के हिसाब से हर वार्ड में कार्यकर्ताओं को विदेश से लौटे लोगों के घर-घर जाना है. घर जाकर लोगों के स्वास्थय की जानकारी लेकर उनके फोटो भी विभाग को सौंपना है।

सुरक्षा के नाम पर केवल मास्क

कार्यकर्ताओं को ये ड्यूटी आदेश अचानक मिले हैं। एक दिन पहले ही इन्हें घर घर जाकर लोगों की जानकारी जुटाने के आदेश दिये गए हैं, जबकि सुरक्षा के लिहाज से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को केवल मास्क ही दिए गए हैं, लिहाज़ा उनके लिए ये काम किसी खतरे से कम नहीं है। इस बीच देशभर में अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 600 के ऊपर पहुंच गई है, वहीं मध्य प्रदेश में अभी तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 15 हो गई है जिसमें से 1 की मौत भी बुधवार को हो चुकी है। पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन घोषित किया जा चुका है।

Next Story
Share it