Top
undefined

आनडोर और रिलायंस स्टोर में फोन नहीं उठ रहे, बैरसिया में एक दुकान पर किराना ही नहीं बिकता

शहर में कर्फ्यू के दौरान किराना जैसे जरूरी सामान के लिए प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए थे

आनडोर और रिलायंस स्टोर में फोन नहीं उठ रहे, बैरसिया में एक दुकान पर किराना ही नहीं बिकता
X

भोपाल। कोरोना वायरस के चलते लोगों को भीड़भाड़ से बचाने के जिला प्रशासन के दावे झूठे साबित हो रहे हैं। राजधानी भोपाल में बुधवार को किराने के सामान के लिए जारी किए गए दुकानों पर कोई फोन ही नहीं उठा रहा है। वहीं जिला प्रशासन ने बैरसिया की एक ऐसी दुकान का नंबर जारी कर दिया है जिसमें किराना का सामान ही नहीं बिकता। भोपाल संभाग कमिश्नर कल्पना श्रीवास्तव का कहना है कि ये बड़ी चूक है वे आज ही इन किराना व्यापारियों की बैठक बुला रही हैं। बैठक में घर तक सामान पहुंचाने के लिए निर्देश स्टोर और दुकान संचालकों को दिए जाएंगे। जिला प्रशासन ने दावा किया था कि शहर में किसी भी हालत में जरूरी सामान की कमी नहीं होने दी जाएगी। लोग बाजार में नहीं आएं इसके लिए किराना सामान की होम डिलेवरी सुविधा गुरुवार सुबह से शुरू हो जाएगी। इसके लिए प्रशासन ने रिलायंस, आनडोर सहिंत करीब 45 किराना व्यवसायियों के फोन नंबर जारी किए थे। फोन नंबर की सूची अखबारों में प्रकाशित होने के बाद लोगों ने इन नंबरों पर फोन लगाने शुरू कर दिए। लेकिन कहीं से भी कोई रिस्पांस नहीं मिल रहा था। सच्चाई जानने के लिए हमारे प्रतिनिधि ने भी रिलायंस और आनडोर के अधिकांश फोन नंबर बंद आए तो कुछ किराना दुकानों के फोन नंबर लागातार व्यस्त आते रहे। लिस्ट में बैरसिया की तीन किराना दुकानों के नंबर भी लिस्ट में दिए है। यहां खास बात ये है कि दिए गए तीन नंबरों में से एक पर किराने का सामान ही नहीं बिकता। बैरसिया के माहेश्वरी किराना स्टोर के संचालक राजेश माहेश्वरी ने कहा कि उनका फोन नंबर अखबार में कैसे छप गया उन्हें नहीं मालूम। उनके यहां घर तक सामान पहुंचाने की कोई व्यवस्था नहीं है, वे अकेले दुकान संचालिक करते हैं। ऐसे में घर तक सामान कैसे पहुंचा सकते हैं। राजेश ने बताया कि उन्होंने लोगों से सामान का पर्चा व्हाट्सअप से भेजने लोगों से कहा है ताकि वे सिर्फ अपना सामान लेने दुकान पर आ सके उन्हें दुकान पर खड़ा नहीं होना पड़े। बैरसिया के ही मंशाराम किराना स्टोर के नारायण सिंह ने कहा कि अखबार मे कैसे उनकी दुकान का फोन नंबर आ गया। उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है। वे घर तक सामान पहुंचाने में असमर्थ है। वहीं प्रशासन की लिस्ट के अनुसार अखबार मे छपे जैन किराना स्टोर के नंबर पर जब फोन लगाया तो यहां दुकान संचालक अंकित जैन से बात हुई। उन्होंने कहा कि उनकी दुकान पर तो किराना का सामान बिकता ही नहीं है।

करोंद सब्जी मंडी में भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग

लोग अपनी जान कैसे जोखिम में डाल रहे हैं, इसका जीता जागता उदाहरण गुरुवार सुबह करोंद सब्जी मंडी में देखने मिला। सुबह मंडी में सब्जी पहुंचते ही हजारों की संख्या में लोग खरीदारी करने उमड़ पड़े। यहां से प्रतिदिन पूरे शहर में सब्जी की सप्लाई होती है। यही हाल पुराने और नए शहर का रहा, यहां किराना दुकानों पर लोगों की भीड़ देखी गई है। पेट्रोल पंपों पर भी वाहनों की लाइन लग गई। इस दौरान कुछ लोग सोशल डिस्टेसिंग का पालन कर रहे थे तो कुछ बहुत पास पास खड़े रहे। सबसे ज्यादा भीड़-भाड़ कॉलोनियों में खुली किराना दुकानों पर नजर आई। दो दिन पहले भी ऐसा ही नजारा शहर के बाजारों में नजर आया था। तब पुलिस ने करीब 11 बजे मोर्चा संभाला और लोगों को अपने घरों में रहने की हिदायत दी। कर्फ्यू का पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई भी की गई। पुलिस द्वारा अलाउंसमेट कर बेवजह रोड पर घूम रहे लोगों को सख्त हिदायत दी जा रही है, कि वे बेवजह घर से बाहर न निकलें। अतिआवश्यक काम से ही बाहर निकलें। प्रशासन के दिशा निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन कर पुलिस व प्रशासन का सहयोग करें। किराना व अन्य सामग्री संग्रहित बिल्कुल न करें, इन चीज़ों की सप्लाई/आपूर्ति में किसी भी प्रकार की कमी नहो आने दी जाएगी। साथ ही कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु नियमित रूप से हाथ-मुंह धुलते रहें। घरों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। परिवार के छोटे बच्चों व बुजुर्गों को घर से बाहर बिल्कुल नहीं निकलने दें। परिवार में अगर किसी सदस्य को सर्दी, जुकाम, सांस लेने के तकलीफ आदि समस्या होती है तो तत्काल हेल्पलाइन नम्बर 104 या स्मार्ट सिटी सेंटेलाइज कंट्रोल रूम के नम्बर 0755-2704201 व्हाट्सएप नम्बर 9301089967 पर सम्पर्क करें। लॉकडाउन व कर्फ्यू आदेश का पालन नहीं करने वालों के विरुद्ध धारा 188, 269, 270 आईपीसी के तहत सख्त वैधानिक कार्रवाई जा जाएगी।

मंदिरों में सन्नाटा, शहर काजी ने की घर ही नमाज पढ़ने की अपील

इधर, नवरात्र के दूसरे दिन भी मदिरों में सन्नाटा पसरा है। लेकिन कुछ शहर के कुछ मंदिरों में लोग परिवार सहित पूजा करने पहुंचे। इधर, शहरकाजी सैयद मुश्ताक अली ने मुस्लिम समाज के लोगों से घरों पर ही नमाद अता करने की अपील की है। उन्होंने सभी मस्जिदों के काजियों से कहा है कि वे मस्जिद से अजान के बाद लोगों से कहें कि लोग अपने-अपने घरों पर ही नमाज अता करें। बिना वजह घर से बाहर नहीं निकलें। शहर काजी ने लोगों से ये भी अपील की है कि सभी लोग अपने अपने मोहल्ले में जरूरतमंद लोगों का ध्यान रखें कि किसी को खाने और किसी अन्य जरूरी चीज की आवश्यकता हो तो उसे मुहैया कराएं।

अस्पताल की ओपीडी में भीड़

जेपी अस्पताल में आज एक बार ओपीडी में मरीजों की भीड़ लगी हुई है। यहां आने वाले लोगों भी डिस्टेसिंग का ध्यान नहीं रख रहे हैं। यहां आने वाले अधिकांश मरीज सर्दी जुकाम और बुखार से पीड़ित हैं। कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते लोग यहां अपनी जांच कराने पहुंच रहे हैं।

Next Story
Share it