Top
undefined

मुख्यमंत्री शिवराज ने भोपाल की सड़कों पर निकलकर हेल्थ वर्कर्स और पुलिस को धन्यवाद दिया

मध्य प्रदेश में अब तक कोरोना के 33 मामले, 2 की मौत, भोपाल में 3 केस आने के बाद क्षेत्र को कैंटोनमेंट (निषेध) बनाया

मुख्यमंत्री शिवराज ने भोपाल की सड़कों पर निकलकर हेल्थ वर्कर्स और पुलिस को धन्यवाद दिया
X

भोपाल. मध्य प्रदेश में 24 घंटे के अंदर 7 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें इंदौर 4, जबलपुर 2 और भोपाल में एक केस मिला। अब तक प्रदेश में 33 केस हो गए हैं। बीमारी की दहशत के बीच लोगों की हिम्मत बढ़ाने के लिए खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल का जायजा लिया। सबसे पहले वे बिट्टन मार्केट पहुंचे और चौराहे पर तैनात पुलिसकर्मियों की हौसलाअफजाई करने के बाद फल विक्रेताओं से बात की। इसके बाद शाहपुरा में पुलिसकर्मियों से सोशल डिस्टेंटिंग के पालन की बात की। मुख्यमंत्री ने कोलार इलाके में सफाईकर्मियों का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। उन्हें मास्क लगाकर रखने और पर्याप्त दूरी बनाकर काम करने कहा। मुख्यमंत्री 29 मार्च को शाम 5:30 बजे फेसबुक पर कोरोना से बचाव के संबंध में प्रदेशवासियों से चर्चा करेंगे।

कांग्रेस नेता आइसोलेट हुए

यह खबर भी आ रही है कि 20 मार्च को कमलनाथ की प्रेस वार्ता में शामिल कुछ पूर्व मंत्रियों और कांग्रेस नेताओं ने खुद को होम आइसोलेट कर लिया है। एक पत्रकार के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद कुछ अफसरों ने भी खुद को होम आइसोलेट किया है। भोपाल में पत्रकार केके सक्सेना के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। जबलपुर में एक केस को छोड़कर बाकी सभी 7 पॉजिटिव सराफा व्यापारी से जुड़े हैं। इधर, इंदौर में 4 दिन के अंदर 19 केस सामने आने से सरकार बेहद सतर्क हो गई है। यहां आईएएस अफसरों की एक विशेष टीम भेजी गई। इसमें विवेक अग्रवाल, मनीष सिंह और अविनाश लवानिया शामिल हैं। शिवराज सरकार ने मप्र बोर्ड के 10वीं और 12वीं छोड़कर बाकी सभी कक्षाओं में जनरल प्रमोशन देने का फैसला किया है।

पूर्व मंत्री सचिन यादव का ट्वीट

जीतू पटवारी ने कहा कि सबको सावधानी बरतनी चाहिए। मैं परिवार के साथ भोपाल में स्थित घर पर हूं। बेंगलुरु से लौटने के बाद टेस्ट कराया था। शोभा ओझा ने इंदौर में खुद को क्वारैंटाइन कर लिया। उन्होंने कहा- सभी लोग ऐहतियात बरते रहे हैं। दिग्विजय सिंह भी इस समय घर पर हैं। उन्होंने लोगों से मिलना-जुलना बंद कर दिया है।

जबलपुर: अब तक 8 पॉजिटिव, संक्रमित व्यापारी 450 लोगों के संपर्क में आया

जबलपुर में 2 और लोगों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा सतर्कता से कदम उठा रहा है। यह दोनों मरीज संक्रमित सराफा व्यापारी के यहां काम करते हैं और 4 दिन से आइसोलेशन में थे। जबलपुर में कोरोनावायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8 हो गई। सराफा व्यापारी की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के अनुसार, व्यापारी दुबई से लौटने के बाद करीब 450 लोगों के संपर्क में आया।

इंदौर: अब तक 19 केस, 2 की मौत हो चुकी

शुक्रवार देर रात इंदौर में 4 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। इससे पहले एक उज्जैन और एक इंदौर निवासी की मौत हो चुकी है। इंदौर में जहां पर भी कोरोना पॉजिटिव केस आ रहे हैं, उन स्थानों को कैंटोनमेंट (निषेध) किया जा रहा है। यहां के 2 किमी दायरे में आने-जाने की पाबंदी लगा दी गई है।

भोपाल: टीवी एक्ट्रेस के घर के बाहर नो विजिट का बोर्ड लगा

टीवी एक्ट्रेस दिव्यंका त्रिपाठी के चूनाभट्टी स्थित घर के बाहर 'कोविड-19 डू नॉट विजिट' का नोटिस चस्पा किया गया है। दिव्यंका के भाई ऐश्वर्य हाल में विदेश की यात्रा करके लौटे हैं। पोस्टर के बारे में परिजन ने कहा,''यह जिला प्रशासन की अच्छी पहल है। जहां एक ओर इस तरह के पोस्टर लगाए जाने का लोग विरोध कर रहे हैं, वहीं हमें इस बात की तसल्ली है कि जिला प्रशासन विदेश से लौटने वालों पर नजर रखे हैं।'' पत्रकार केके सक्सेना पर श्यामला हिल्स थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। सक्सेना और उनकी लंदन से लौटी बेटी कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं। इसके साथ ही सेमरा चांदबड़ इलाके में रहने वाला रेलवे गार्ड भी कोरोना पॉजिटिव मिला। इन दोनों ही एड्रेस के आसपास एक किलोमीटर के इलाके को कैंटोनमेंट कर दिया गया है। यहां पर किसी के भी आने-जाने पर पाबंदी लगा दी गई है। भोपाल में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 93 लोगों पर केस दर्ज किए गए। शनिवार को भोपाल में नगर निगम की गाड़ियां 380 रूटों पर घर-घर जाकर सब्जियां बेचेंगी। लेकिन, इसके लिए भी नगर निगम ने गाइड लाइन जारी की है। सब्जी सिर्फ उन्हीं लोगों को मिलेगी जो गाइडलाइन का पालन करेंगे।

रायसेन: अब किराने की दुकानें नहीं खुलेंगी, होम डिलीवरी शुरू होगी

पूरे जिले में 1565 यात्रियों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। इनमें सांची 38, गैरतगंज 98, बेगमगंज 30, सिलवानी 651, उदयपुरा 142, बरेली 81 और औबेदुल्लागंज में 525 शामिल हैं। सभी व्यक्ति स्वस्थ्य हैं। 7 लोगों के सैंपल भोपाल के एम्स भेजे गए, जिनकी निगेटिव रिपोर्ट आई। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने बताया कि शुक्रवार को किराने की दुकानें खोलने की छूट दी गई थी। अब दुकानें नहीं खुलेंगी। किराने की होम डिलीवरी शुरू कराई जाएगी। रोज की तरह ही सब्जी और दूध की आपूर्ति होती रहेगी।

राजगढ़: 2 संदिग्ध की आज जांच रिपोर्ट आएगी, जिले में प्रशासन सख्त

माचलपुर और सुठालिया क्षेत्र में 2 लोगों को कोरोनावायरस के संक्रमण का संदिग्ध माना गया, इनकी जांच रिपोर्ट एम्स भोपाल भेजी गई। यह रिपोर्ट शनिवार शाम तक आएगी। दोनों को जिला अस्पताल में क्वारैंटाइन किया गया। इधर, शहर समेत जिलेभर में पुलिस-प्रशासन ने सख्ती बढ़ा दी है। सभी बड़े शहर और कस्बों में किराना, सब्जी, दूध और दवाओं के लिए एक समय निश्चित कर दिया गया। उपभोक्ताओं को अब उसी आधार पर जरूरत के सामान उपलब्ध हो सकेंगे। नियम तोड़ने पर कार्रवाई की जाएगी।

गुना: लॉकडाउन से परेशानी बढ़ी, दूध वालों को अब 4 घंटे की छूट, आटा चक्कियां भी खुलेंगी

लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराए जाने के बाद कई उलटे असर सामने आए। अब शासन ने कुछ बदलाव लागू किए हैं। आवश्यक सेवाओं के राज्य मुख्य समन्वयक आईसीपी केशरी ने कलेक्टर और एसपी को निर्देश जारी किए हैं। पहला- गांव या डेयरियों से शहर में दूध लेकर आने वालों को सुबह 6 से 10 बजे तक अनावश्यक रूप से परेशान न किया जाए। सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाए। दूसरा- सभी आटा चक्कियों को निर्धारित समयावधि में खुला रखा जाए, जिससे आटे की कमी न हो।

अशोकनगर: जिले में सिर्फ 1 ही वेंटिलेटर, हालात बिगड़े तो संभालना मुश्किल

जिले में गंभीर मरीजों के लिए सिर्फ एक ही वेंटिलेटर की सुविधा है। शुक्र है कि अभी जिले में कोई भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, लेकिन अगर हालात बिगड़े तो क्या स्थिति होगी? चंदेरी विधायक ने चंदेरी अस्पताल में एक वेंटिलेटर के लिए 7 लाख 20 हजार रुपए की राशि स्वीकृत की। इससे यहां गंभीर मरीजों के लिए वेंटिलेटर की सुविधा मिल पाएगी। वहीं, कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज को रेस्क्यू करने की जिम्मेदारी अब पुलिस ने ली है। पुलिस की 50 सदस्यीय डिजास्टर टीम मरीज को पकड़कर अस्पताल पहुंचाने और भर्ती कराने के लिए तैयार है। टीम को सुरक्षा कवच से लैस किया है।

मध्य प्रदेश में अब तक कोरोना के 33 मामले, 2 की मौत, भोपाल में 3 केस आने के बाद क्षेत्र को कैंटोनमेंट (निषेध) बनाया

लॉकडाउन के बाद लोगों के निकलने पर पूरी तरह से रोक लगी है। इस बीच अगर कोई निकलता भी है तो पुलिस उसके साथ सख्ती कर रही है। छतरपुर के डाकखाना चौराहा, जिला अस्पताल चौराहे पर पुलिस चेकिंग कर रही है। यहां पर बाहर निकलने वाले लोगों पर चालानी कार्रवाई की। मुर्गा बनाकर उठक-बैठक कराई जा रही है और डंडों से पिटाई भी हो रही है।

Next Story
Share it