Top
undefined

मध्य प्रदेश के सीनियर आईएएस अफसर को कोरोना संक्रमण! दूसरी रिपोर्ट का इंतज़ार

विजय कुमार दो महीने से भोपाल में ही हैं। इसके पहले वे दक्षिण भारत के हेल्थ कॉर्पोरेशन का मॉडल देखने अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के साथ गए थे।

मध्य प्रदेश  के सीनियर आईएएस अफसर को कोरोना संक्रमण! दूसरी रिपोर्ट का इंतज़ार
X

भोपाल, मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य संचालक (प्रशासन) सीनियर आईएएस अफसर जे विजय कुमार को भी कोरोना होने का संदेह है। पहली टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। हालांकि सैंपल की दोबारा जांच करायी जा रही है जिसकी रिपोर्ट आज आने वाली है। विजय कुमार आयुष्मान भारत निरामयम सोसायटी के सीईओ और मप्र पब्लिक हेल्थ कोर्पोरेशन के महाप्रबंधक (एमडी) भी हैं। वे अपने विभाग में पीएस और कमिश्नर के बाद तीसरे नंबर के अफसर माने जाते हैं। कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने का जिम्मा जिस स्वास्थ्य विभाग का है आशंका है कि अब उसी के अफसर इस महामारी की चपेट में आ गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के संचालक विजय कुमार के कोरोना से संक्रमित होने का संदेह है। सूत्रों से खबर मिली है कि उनकी सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. 2011 बैच के आईएएस अधिकारी जे विजय कुमार स्वास्थ्य विभाग में संचालक (प्रशासन) हैं। इसके साथ ही वे आयुष्मान भारत निरामयम सोसायटी के सीईओ और मप्र पब्लिक हेल्थ कोर्पोरेशन के महाप्रबंधक (एमडी) भी हैं। कोरोना के कारण प्रदेश भर के सरकारी अस्पतालों में दवाओं और उपकरणों की मांग बढ़ी है। विजय कुमार इनकी आपूर्ति के लिए ड्रग और कन्ज्यूमेबल आयटम्स बनाने वाली कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ लगातार बैठकें कर रहे थे ताकि सामान जल्द सप्लाई हो सके। आशंका है कि इसी दौरान वे किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आकर खुद संक्रमण का शिकार हो गए।

कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं

जानकारी के मुताबिक जे विजय कुमार दो महीने से भोपाल में ही हैं। इसके पहले वे दक्षिण भारत के हेल्थ कॉर्पोरेशन का मॉडल देखने अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के साथ गए थे। उसके बाद से वे यहीं काम कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण के बीच ज़रूरी सामान सप्लाई टाइम से करने की भारी डिमांड है। विजय कुमार लगातार सक्रिय हैं। इस दौरान वो कई दवा और उपकरण बनाने वाली कंपनियों के कर्मचारियों से संपर्क में आते रहे।

Next Story
Share it