Top
undefined

सितंबर तक टल सकते हैं राज्‍यसभा के उपचुनाव

चुनाव आयोग इन सीटों पर मई माह में उप चुनाव कराने की तैयारी कर रहा था, इस बीच देश में लॉकडाउन लागू होने से प्रशासनिक कामकाज सहित सभी तरह की अन्य गतिविधियां बंद करनी पड़ गई।

सितंबर तक टल सकते हैं राज्‍यसभा के उपचुनाव
X

भोपाल। कोरोना महामारी के चलते पहले राज्यसभा चुनाव स्थिगित करना पड़ा और अब इसी तरह के हालात मप्र में जल्द संभावित विधानसभा के उपचुनावों को लेकर भी बनते जा रहे हैं। प्रदेश में 24 विधानसभा सीटों पर उपचनाव होने हैं। लाकडाउन की वजह से यह आसाप पूरी तरह से बनते दिख रहे हैं। चुनाव आयोग इन सीटों पर मई माह में उप चुनाव कराने की तैयारी कर रहा था, इस बीच देश में लॉकडाउन लागू होने से प्रशासनिक कामकाज सहित सभी तरह की अन्य गतिविधियां बंद करनी पड़ गई। यदि लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद कुछ दिन और बढ़ाया जाता है तो उप चुनाव निर्धारित समयावधि के बाद कराए जाने के हालात बनना तय है। इसकी वजह है उप चुनाव की तैयारी और चुनाव कार्यक्रम घोषित में आयोग को अतिरिक्त समय लगना तय है। बीते साल 21 दिसंबर को मुरैना जिले की जौरा विधानसभा सीट के कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा का निधन हो गया था। इसके बाद 30 जनवरी को भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का निधन होने से आगर सीट रिक्त हो गई थी। इसके बाद मार्च में कांग्रेस के 22 विधायकों द्वारा इस्तीफा देने की वजह से प्रदेश में कुल 24 सीटें रिक्त हो चुकी हैं। विधि विशेषज्ञों की माने तो संविधान के अनुसार किसी भी लोकसभा या विधानसभा की रिक्त सीट पर छह माह के अंदर उपचुनाव कराना अनिवार्य है। इस हिसाब से जोरा सीट पर 21 जून से पहले उप चुनाव कराया जाना है। यही वजह है कि आयोग ने जोरा के साथ ही अन्य 23 सीटों पर मई में चुनाव कराने की तैयारी शुरु कर दी थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते इसे रोकना पड़ गया है। अब माना जा रहा है कि लाकडाउन समाप्त होते ही पहले राज्यसभा के चुनाव कराए जाएंगे। इसके बाद ही उपचुनाव की तमाम तैयारियां करने के बाद कार्यक्रम घोषित किया जाएगा, जिसमें समय लगना तय है।

Next Story
Share it