Top
undefined

भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड की बसें बनीं एंबुलेंस, लोगों को पहुंचा रही क्वॉरंटाइन सेंटर

सातों विधानसभाओं में बसों के ड्राइवर क्वॉरंटाइन किए गए लोगों को सेंट्रल तक छोडऩे और सेंटर में पीरियड पूरा होने के बाद घर तक छोडऩे का काम कर रहे हैं।

भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड की बसें बनीं एंबुलेंस, लोगों को पहुंचा रही क्वॉरंटाइन सेंटर
X

भोपाल। लॉकडाउन में जब लोगों का घरों से निकलना पूरी तरह से बंद है ऐसे में बीसीसीएल की बसों का उपयोग आवश्यक सामान की आपूर्ति में किया जा रहा है। बीसीसीएल की यह रेड बसें क्वॉरंटाइन सेंटर तक क्वॉरंटाइन किए गए लोगों को पहुंचाने का काम भी करेंगी। डॉक्टर नर्स नगर निगम कर्मचारी स्वास्थ्य और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के साथ ही अब बीसीसीएल के ड्राइवर ने भी लोगों की सेवा के लिए मोर्चा संभाल लिया है।

7 विधानसभाओं में अलग-अलग बस और ड्राइवर की ड्यूटी

कोरोना पॉजिटिव केस की संख्या इंदौर और भोपाल में लगातार बढ़ रही है। भोपाल में हर विभाग के कर्मचारी सर्वे भी कर रहे हैं। सर्वे के बाद जिस भी संदिग्ध व्यक्ति को क्वॉरंटाइन करना होता है उनको क्वारंटाइन सेंटर तक पहुंचाने में अब सिटी बसों की मदद ली जा रही है। यानी सिटी बस क्वॉरंटाइन किए गए लोगों को क्वॉरंटाइन सेंटर तक पहुंचाने का काम कर रही है। एंबुलेंस के साथ ही अब जब तक कि ओला और उबर कैब के साथ भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड की रेट बसें क्वॉरंटाइन सेंटर्स तक क्वॉरंटाइन किए गए लोगों को पहुंचाएंगी और क्वॉरंटाइन पीरियड पूरा करने के बाद उनको घर तक पहुंचाएंगी। सातों विधानसभाओं में बसों के ड्राइवर क्वॉरंटाइन किए गए लोगों को सेंट्रल तक छोडऩे और सेंटर में पीरियड पूरा होने के बाद घर तक छोडऩे का काम कर रहे हैं।

सांची पार्लर पर भी पहुंचा रहे राशन का सामान

वहीं, सांची पार्लर पर जरूरत का सारा सामान जिला प्रशासन ने मुहैया कराया है। ऐसे में आम आदमी सांची पार्लर से भी राशन का सामान खरीद रहे हैं। सांची पार्लर तक बड़ी संख्या में राशन के सामान की आपूर्ति सिटी बसों से ही कराई जा रही है। सिटी बसें राजधानी के सारे सांची पार्लर पर फेरे लगाकर राशन का सामान पहुंचा रही हैं। वहीं किराना और थोक व्यापारियों तक भी सिटी बसों के जरिए राशन का सामान बड़े स्तर पर पहुंचाया जा रहा है ताकि संकट की इस घड़ी में जहां से आम आदमी को जरूरत का सामान मिलना है वहां पर आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की कमी ना हो।

ड्राइवर की सुरक्षा का रखा गया पूरा ध्यान

बता दें, कोरोना वायरस की जद में डॉक्टर नर्स और पुलिसकर्मी भी आ चुके हैं। ऐसे में अब पूरी सुरक्षा के साथ सभी विभागों के कर्मचारियों को फील्ड पर उतारा जा रहा है। रेड बस के ड्राइवर्स को सुरक्षा के तहत पीपीई किट दी गई है। पीपीई किट में ही ड्राइवर फील्ड पर जा रहे हैं। पीपीई किट के साथ मास्क और ग्लव्स भी ड्राइवर को दिए गए हैं। सुबह और शाम के वक्त में सिटी बसों को सैनिटाइज भी किया जा रहा है ताकि ड्राइवर भी संक्रमण से बचे रहें और बसों को सैनिटाइज करने से दूसरे लोगों तक और जरूरी सामान भी संक्रमण से बचा रहे।

Next Story
Share it