Top
undefined

मध्य प्रदेश के क्वारेंटाइन केंद्रों में खुशनुमा हुआ माहौल, टीवी, गाने और खेल बने साधन

मध्य प्रदेश के क्वारेंटाइन सेंटर्स में रह रहे संदिग्ध मरीजों के मनोरंजन के लिए यहां टेलीविजन लगाए जा रहे हैं। यहां लोग गाने सुनकर और इंडोर गेम का लुत्फ उठा रहे हैं।

मध्य प्रदेश  के क्वारेंटाइन केंद्रों में खुशनुमा हुआ माहौल, टीवी, गाने और खेल बने साधन
X

भोपाल। कोरोना महामारी के बीच कई लोग ऐसे हैं जो कोरोना पॉजिटिव तो नहीं है लेकिन पॉजिटिव होने की संभावना ने उन्हें कुछ वक्त के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में कैद कर दिया है। पूरे देश के साथ मध्य प्रदेश में भी ऐसे कई लोग हैं जिन्हें कोरोना संदिग्ध होने के शक में क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में रखा गया है। ऐसे लोगों की देखभाल और उनके मनोरंजन के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने एक अनोखी पहल की है। इसके तहत क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में रह रहे लोगों को अब म्यूजिक थेरेपी और टीवी गेम्स के जरिए खुश रखने की कोशिश की जा रही है। इस पहल के पीछे मकसद क्वॉरेंटाइन वक्त के दौरान उन लोगों के मनोबल को बढ़ाना और उन्हें एक खुशनुमा माहौल देना है।

कई शहरों में मनोरंजन की ये सुविधा

भोपाल और इंदौर समेत प्रदेश के कई शहरों में जहां क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं वहां इस तरह की मनोरंजन गतिविधियां की जा रही हैं जिसमें लोगों को गाना सुनाने से लेकर टीवी पर फिल्में और मनोरंजन कार्यक्रम दिखाना तक शामिल है

18 क्वारेंटाइन सेंटर में शुरू की गई ये सुविधा

शुरुआती दौर में जिन शहरों में क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में मनोरंजन की व्यवस्था शुरू की गई है, उनमें भोपाल, इंदौर और उज्जैन के 18 क्वॉरेंटाइन सेंटर शामिल हैं। इसी तरह की पहल बाकी क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में भी शुरू की जाएगी ताकि वहां रह रहे लोगों के मनोबल को बढ़ाए रखा जाए और उन्हें खुशनुमा माहौल दिया जाए।

कैसे कैसे हो रहा मनोरंजन

क्वारंटाइन सेंटर्स पर केबल कनेक्शन सहित टेलीविजन सेट लगाए गए हैं, जिनमें फिल्में, गाने, रामायण जैसे सीरियल दिखाए जा रहे हैं । इन केंद्रों पर इंडोर खेल एक्टिविटी का आयोजन किया जा रहा है। इसके लिए खेल सामान की किट भी दी गई हैं। ये खेल ऐसे हैं, जिन्हें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खेला जा सकता है। इसके साथ ही आर्केस्ट्रा, मिमिक्री, कॉमिडी कलाकार भी उनका मनोरंजन कर रहे हैं।

Next Story
Share it